इमाम की दाढ़ी कटवाना चाहती है महिला, बात नहीं मानने पर थाने में मुकदमा दर्ज

उत्तर प्रदेश

न्यूज़ स्टैंड18

अलीगढ़। यहां एक महिला अपने इमाम शौहर की दाढ़ी कटवाना चाहती है, उसका कहना है कि, मै स्मार्ट औरत हूं, हमे क्लीन सेव वाले मर्द पसंद है। इसी बात की लेकर उसकी करीब साल भर से पति के साथ अनबन चल रही थी। बात नहीं मानने पर पत्नी ने पुलिस मे मुकदमा दर्ज कराया दिया है।
इस मामले में अपनी एक खबर मे पत्रिका ने कहा है कि, इमाम की पत्नी का कहना है कि वह एक मॉडर्न लड़की है। उसे दाढ़ी वाले लोग पसंद नहीं हैं। दाढ़ी नहीं कटवाने पर उसकी मॉडर्न पत्नी ने पति के खिलाफ छर्रा थाने में तीन तलाक समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया है।
अखबार ने आगे लिखा है कि, अलीगढ़ जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के कार्यालय पर एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां थाना अकराबाद क्षेत्र के गांव की एक मस्जिद के पीड़ित इमाम ने अपनी मॉडर्न पत्नी के खिलाफ मदद की गुहार लगाई है। इमाम का आरोप है कि उसकी पत्नी मॉडल ख्यालात की है। निकाह के बाद से ही उसकी पत्नी जबरन उसके चेहरे पर बढ़ी हुई दाढ़ी को कटाने पर तुली हुई है। जब उसने पत्नी के कहने पर अपनी दाढ़ी नहीं कटाई तो उसके खिलाफ छर्रा थाने में तीन तलाक समेत फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया गया। पीड़ित इमाम ने एसएसपी से कहा है कि पत्नी और उसके परिवार के लोग परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।
पत्रिका ने अपनी खबर मे बताया है कि, दरअसल, पीड़ित जलालुद्दीन पुत्र मुकद्दमखा निवासी कस्बा पिलखना का निकाह वीना पुत्री इमामुद्दीन ग्राम सत्तरापुर से एक साल पूर्व हुआ था। शादी के बाद से ही पत्नी को पति की दाढ़ी रखना अच्छा नहीं लगता था। निकाह के बाद से ही मॉडर्न ख्यालात की पत्नी बार-बार दाढ़ी कटाने की जिद करती थी। पत्नी के सताए पीड़ित इमाम आलिम एक मस्जिद का पेश इमाम हैं। पत्नी को इमाम ने धार्मिक काम का वास्ता देकर समझाने का प्रयास किया, लेकिन पत्नी नहीं मानी और षड्यंत्र के तहत थाना छर्रा में इमाम और उसके परिवार के खिलाफ तीन तलाक दहेज एक्ट और परिवार के लोगों पर छेड़छाड़ का संगीन धाराओं का झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया है।
अखबार ने इमाम के हवाले से बताया है कि, पीड़ित इमाम का कहना है कि पत्नी मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न कर रही है और धार्मिक मौलिक अधिकारों का हनन हो रहा है। मॉडर्न पत्नी द्वारा थाने में तीन तलाक सहित कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज होने के बाद पीड़ित इमाम मदद की गुहार लगाने एसएसपी कार्यालय पहुंचा। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के कार्यालय पर नहीं होने की वजह से इमाम को मायूस होकर लौटना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.