ट्रेनों को क्यों बांधा जा रहा पटरियों से…

राष्ट्रीय

कोलकाता। अम्फान की तीव्रता का अंदाजा बांधे जा रहे ट्रेन के डिब्बों को ही देखकर लगाया जा सकता है। तटवर्ती क्षेत्रों मे पटरियों पर खड़ी ट्रेनो के डिब्बों को लोहे के मोटे सीकड़ से बांधा जा रहा है।
चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ के आने से पहले पश्चिम बंगाल और ओडिशा से करीब 4.5 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। अत्यधिक भीषण चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तट के बीच अपना प्रभाव दिखाना शुरु कर दिया है।
अम्फान के ओडिशा तटों के करीब पहुंचने के साथ ही कुछ हिस्सों में बारिश भी शुरू हो गई है। ओडिशा में सड़कों पर टूटकर पेड़ गिर रहे हैं, 102 किमी की रफ्तार से हवाएं चल रहीं हैं।
महाचक्रवाती तूफान के मद्देनजर तीन लाख लोगों को इलाके से बाहर निकाल कर सुरक्षित स्थानो पर भेजा जा रहा है। तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है, बचाव के लिये नौसेना के एयरक्राफ्ट तैयार रखे गए हैं। ओडिशा के भुवनेश्वर में बारिश के साथ तेज हवाएं चलनी शुरु हो गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.