पचहत्तर वर्षीय एक और किसान ने की आत्महत्या – आंदोलन के दौरान अबतक 50 किसानों ने मौत को गले लगाया 

राष्ट्रीय

न्यूज़ स्टैंड18 नेटवर्क
नई दिल्ली। किसान आंदोलन के आज 38वें दिन एक और 75वर्षीय किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। किसान कानून बिल के खिलाफ प्राण देने वाले कश्मीर सिंह ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि उनका अंतिम संस्कार आंदोलन स्थल पर ही किया जाय।
किसान नेता अशोक धवाले के अनुसार अबतक कुल 50 किसानों ने जान गंवाई है। कश्मीर सिंह ने शनिवार को गाजीपुर बार्डर के टॉयलेट में फांसी लगाकर आत्महत्या की है। किसानों ने इसे शहीद बताया है। उन्होंने सुसाइड नोट में लिखा है कि सरकार किसानों की सुन नहीं रही, आखिर हम कब तक यहां बैठे रहेंगे।
उन्होंने नोट में अपनी अंतिम इच्छा जताई है कि उनका अंतिम संस्कार दिल्ली – यूपी बार्डर पर होना चाहिए। हमारे परिवार के सदस्य आगे भी आंदोलन का साथ देंगे।
पुलिस ने बगैर पोस्टमार्टम के शव परिजनों के हवाले कर दिया है। सुसाइड नोट पुलिस ने रखा लिया है।
इस बीच किसान नेताओं ने चेतावनी दी है कि 4 जनवरी को कोई हल नहीं निकला तो 6 जनवरी को ट्राली रैली निकाली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.