भूखे बंदर को अख्तर का सहारा  -फिल्मसिटी के भूखे बंदरों को रोज दे रहे भोजन 

राष्ट्रीय

मुंबई. लॉकडाउन की मार इन्सानो के साथ-साथ बेजुबान जानवरों पर भी पड़ी है। भुख और प्यास ने इनके इन्हे भी बेहाल कर दिया है। ऐसे ही भूखे बंदरों का सहार बने हैं अख्तर अंसारी। अख्तर फिल्मसिटी के सैकड़ो बंदरों को खाना खिलाने का काम कर रही है। उनके इस कार्य मे साथ दे रही है संस्था ’24×7आपकी सेवा मे’। 

गोरेगांव (पूर्व) चित्रनगरी के भीतर बड़ी संख्या में बंदर रहते हैं। आम दिनो मे फिल्मो की शुटिंग के समय यहां बड़ी संख्या जूनियर कलाकारों सहित दुसरे टेक्नीशियन का आना-जाना लगा रहता था, जिसके माध्यम से इन्हे खाना मिल जाता था। लॉकडाउन मे शुटिंग बंद होने की वजह से यह बंदर भूखे रहने लगे। जिसकी जानकारी मिलने पर अख्तर अंसारी ने इन्हे खाना खिलाने की हिम्मत जुटाई।

अख्तर बताते हैं कि हम अपने सहयोगियों के साथ रोजाना 40 से 50 किलो के करीब फल लेकर जाते हैं। इनमे केला, काकडी, टमाटर, संतरा आदि शामिल रहता है। हालांकि इतना खाना इनकी संख्या के हिसाब से पर्याप्त नही है। फिर भी इन्हे कुछ राहत जरुर हो जाती है। फिल्मसिटी के जंगल मे करीब डेढ़ हजार बंदर होंगे। यहां कोई फलदार वृक्ष भी नही है जो इनकी भुख मिटा सके। 

उन्होने ने कहा की बंदर को इन्शानों का पूर्वज कहा जाता है। धार्मिक मान्यता के आधार पर भी मानव इनकी सेवा करता रहा है। आज यह प्राणी संकट मे है। समाज के अन्य सक्षम लोगों से भी निवेदन है कि वह इनकी मदद मे आगे आयें। उन्होने बताया की लॉकडाउन के शुरुआती दिनो से हमारी यह सेवा आगे भी जारी रहेगी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.