महाराष्ट्र में फिर से चिंघाड़ेगा हाथी SC, ST, OBC, मुस्लिम‌ बनेंगे साथी

मुंबई राष्ट्रीय

– मुकेश कुमार मासूम की विशेष रिपोर्ट

मुंबई। जब से बहुजन समाज पार्टी ने महाराष्ट्र में एडवोकेट संदीप ताजने को प्रदेश अध्यक्ष बनाया है तबसे बसपा कार्यकर्ताओं में नया जोश और जुनून आ गया है। 

प्रदेश के हजारों वे कार्यकर्ता भी अब पुनः पार्टी में जुड़ने लगे हैं जिन्हें पुराने पदाधिकारियों ने व्यक्तिगत द्वेष के कारण हाशिये पर रखा था। इसके अलावा अन्य पार्टियों के पदाधिकारी भी अब बहुजन समाज पार्टी से जुड़ने लगे हैं। वंचित बहुजन आघाडी के महाराष्ट्र प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य तथा 2009 में लोकसभा चुनाव लड़कर 40 हजार से ज्यादा मत प्राप्त करने वाले राहुल ओव्हाळ ने हाल ही में बहुजन समाज पार्टी का दामन थाम लिया है। बसपा सुप्रीमो सुश्री मायावती के नेत्रत्व में भरोसा करने वाले ऐसे हजारों वरिष्ठ समाजसेवक अब प्रदेश बसपा प्रेसीडेंट एडवोकेट संदीप ताजने के नेत्रत्व में हाथी की सवारी करने वाले हैं। 

मिशन 2024: बसपा सुप्रीमो सुश्री मायावती के नेत्रत्व में प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट संदीप ताजने ने अभी से 2024 ले चुनाव की तैयारियां कर दी हैं। बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट संदीप ताजने की बैठकों / सभाओं और दौरों में हजारों की भीड़ उमड़ रही है। बहुजन समाज पार्टी महाराष्ट्र में अपने दम पर सरकार बनाने के प्रयास कर रही है और उन्होने अभी से सार्थक प्रयास करने शुरु कर दिये हैं । बसपा  शीर्ष नेत्रत्व ने यहां पर राज्य सभा सदस्य तथा सीनियर लीडर वीर सिं व अनुभवी लीडर प्रमोद रैना को बतौर प्रभारी लगाया हुआ है। ये दोनों ही फेमस लीडर और कुशल वक्ता हैं। 
एडवोकेट संदीप ताजने:   बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट संदीप ताजने युवा हैं , जुझारू हैं,  मिशनरी हैं , सबको साथ लेकर चलने वाले और कुशल रणनीतिकार हैं । उनकी सबसे बड़ी विशेषता उनकी विश्वसनीयता है। उनका कहना है कि वे बहुजन समाज को प्राथमिकता देते हुए सर्व समाज , सर्व प्रान्त और सभी जाति / सभी धर्म के लोगों का हित चाहते हैं । बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट संदीप ताजने समता , शिक्षा , रोजगार  की बात करते हैं और सबको न्याय , मान – सम्मान , स्वाभिमान और सबको सुरक्षा दिलाने की बात करते हैं। वे महाराष्ट्र का सम्पूर्ण विकास करने के पक्ष में हैं तथा चाहते हैं कि जिस प्रकार मुंबई का विकास हुआ है उसी प्रकार महाराष्ट्र के प्रत्येक जिला , तहसील , गांव का भी विकास होना चाहिये । उनका मानना  है कि किसान , मजदूर , गरीब , शोषित , पीड़ित , दलित , ओबीसी तथा कमजोर अल्पसंख्यकों की अगर कोई सच्ची हितैषी है तो वो बहुजन समाज पार्टी है।

बसपा का‌ मिशन: बसपा ने महाराष्ट्र में सबसे पहले चुनाव की तैयारियां शुरु कर दी हैं। बसपा की तरफ महिलाओं , युवाओं , फिल्म कलाकारों व अन्य महत्वपूर्ण लोगों का रुझान बढा है और निकट भविष्य में हजारों लोग बसपा की सदस्यता ले सकते हैं। बसपा सभी सीटों पर चुनाव लड़कर अपनी सरकार बनाने की कोशिस में है । बसपा के सिपहसालार कहते हैं कि पूरी तैयारी के बाद वे कम से कम इस स्थिति में रहना चाहते हैं कि बसपा यहां किंग मेकर की भूमिका में रहे और कोई भी दल‌ उसके बिना सरकार न बना पाये ।यानि यू . पी. की तरह महाराष्ट्र में भी‌ अब‌ हाथी दहाड़ने को‌ तैयार है।
गौरतलब हो कि सुश्री मायावती के नेत्रत्व में यू.पी. में चार बार सरकार बनी । इस सरकार ने प्रदेश में जितना अच्छा सुशासन दिया उसको‌ लोग आज भी याद करते हैं। विकास और कानून का राज महाराष्ट्र में भी स्थापित हो यही सब लोग चाहने लगे हैं। बाकी अन्य दलों की नीतियों‌ से जनता का मोह भंग हो चुका है और बहुजन समाज पार्टी उनके लिये ताजा हवा के झोंके की तरह बेहतरीन विकल्प साबित हो सकती है। 
हालांकि अभी तक पार्टी का संगठन उतना मजबूत नहीं‌ था जो प्रदेश में सरकार बनाई जा सके । लेकिन अब क्रान्तिकारी परिवर्तन हो रहा है। बसपा के बेस वोट बैंक के अलावा अब अन्य लोगों का झुकाव पार्टी की तरफ होने के कारण बसपा यहां फिर से रेस में आती दिखाई दे रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.