मुंबई से मजदूरों का पलायन जारी

मुंबई

न्यूज़ स्टैंड18 नेटवर्क
मुंबई। लॉकडाउन के डर से मजदूर अपने गांव की ओर लगातार पलायन कर रहा है। फिलहाल मुंबई में धारा 144 लागू है, लेकिन मजदूरों को अंदेशा है कि यहां कभी भी पूरी तरह से लॉकडाउन लग सकता है। इसी भय से यह शहर छोड़ रहे हैं। हालांकि सरकार की ओर से लगातार कहा जा रहा है कि मजदूर घबराए नहीं।
लोकमान्य तिलक टर्मिनस व सी एस टी मे लगातार भीड़ बढ़ रही है। पिछले साल लॉकडाउन लगने के बाद बड़ी संख्या में मजदूरों को पैदल अपने गांव जाना पड़ा था। इस बार भी उसी घबराहट मे शहर छोड़ रहे हैं।
प्रवासी मजदूरों का मुंबई छोड़ने के पीछे सबसे बड़ा कारण काम – धंधा बंद होना भी बताया जा रहा है। पश्चिम उपनगर मे इमिटेशन ज्वेलरी का लेबर जॉब करने वाले एक मजदूर ने बताया कि हम किराए के घर में 4 लोग एक साथ रहते हैं और घर ने ही काम करते हैं। हमने सोचा था कि इस बार मुंबई नहीं छोडूंगा। घर में ही काम करूंगा, लेकिन इमिटेशन की दुकानें बंद होने से हमे काम मिलना ही बंद हो गया। अगर सरकार चाहती तो हमारा काम घर से ही चलता रहता। हमे आर्डर मिलना बंद हो गया साथ ही कच्चे माल की दुकानें भी बंद हो गई।
बड़ी मुश्किल से हिम्मत जुटा कर मुंबई लौटे थे, अब तो आगे लौटना बहुत मुश्किल है। यही हाल अमूमन सभी मजदूरों का है। झारखंड के एक मजदूर का कहना है ‘ पिछली बार तो तमाम समाजसेवी संस्थाएं खाना और अनाज बांट रही थी, इस बार तो कोई मदद के लिए आगे नहीं आ रहा। ऐसे में यहां भूखे मरने की नौबत आ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.