मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा, तालिबान को हिन्दुस्तानी मुसलमानों का सलाम

राष्ट्रीय

न्यूज़ स्टैंड18 डेस्क
लखनऊ/मुंंबई।
अफगानिस्तान में खून खराबा करने वाले तालिबानियों को भारत के मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता सज्जाद नोमानी ने सलाम कहा है। उन्होंने कहा कि, अफगानिस्तान पर तालिबानी कब्जा जायज, उन्हें हिंदुस्तानी मुसलमान का सलाम।
सज्जाद नोमानी से पहले समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर रहमान बर्क ने तालिबान के समर्थन में बयान दिया था। सपा सांसद ने कहा कि तालिबानी अपने देश की आजादी के लिए लड़ रहे हैं। अफगान लोग उसके नेतृत्‍व में आजादी चाहते हैं। इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी के इस नेता ने खून खराबे और दरिंदगी की तुलना भारत के स्वतंत्रता आंदोलन से कर दी।उन्होंने कहा कि, जब भारत ब्रिटिश शासन के अधीन था तब हमारे देश ने आजादी के लिए जंग लड़ी। अब तालिबान अपने देश को आजाद करना और चलाना चाहते हैं।
सज्जाद नोमानी ने तालिबान की तारीफ में कहा है कि, तालिबान ने पूरी दुनिया की सबसे ज्यादा मजबूत सेनाओं को शिकस्त दी। इन नौजवानों ने काबुल की जमीन को चूमा और अल्लाह को शुक्रिया कहा। इनका इशारा अमरीकी सेना की ओर था। नोमानी कहना है कि एक निहत्थी कौम ने सबसे मजबूत फौजों को शिकस्त दी है। काबुल के महल में वे दाखिल हुए। उनके दाखिले का अंदाज पूरी दुनिया ने देखा। उनमें कोई गुरूर और घमंड नहीं था। बड़े बोल नहीं थे।
मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता ने तालिबानियों के खौफ से भाग रहे अफगानी मुसलमानों पर कुछ नहीं बोले। वहां औरतों की आजादी छीने जाने, मानवाधिकार के हनन और सरे आम बेकसूर लोगों के मारे जाने पर भी एक शब्द नहीं बोले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.