विनोद मिश्रा को मिली धमकी पर कार्रवाई नहीं होने से भाजपा नाराज़, विपक्ष नेता प्रवीण दरेकर मुंबई कमिश्नर से मिले

मुंबई

न्यूज़ स्टैंड18 नेटवर्क
मुंबई। मुंबई के भाजपा नेता विनोद मिश्रा ने व्हाट्सएप पर स्थायी समिति के अध्यक्ष यशवंत जाधव द्वारा जान से मारने की दी गई धमकी के विरोध में पुलिस मे शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं होने से नाराज़ भाजपा नेता शुक्रवार की मुंबई पुलिस कमिश्नर से मिले।


नगरसेवक मिश्रा ने पुलिस में इस बारे में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। चार दिन बाद भी पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इस संबंध में विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर और मुंबई भाजपा अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा ने मुंबई के पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह से मुलाकात की और यशवंत जाधव के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की।

इसी के बाद दरेकर ने अदालत जाने की चेतावनी दी।
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नगरसेवक विनोद मिश्रा ने सत्ताधारी दल पर बीएमसी में विकास निधि में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। मिश्रा ने प्रेस कांफ्रेंस लेकर जाधव पर अधिक धनराशि लेकर वार्ड नंबर 209 में अपनी शक्तियों के दुरुपयोग का भी आरोप लगाया था। इसी के बाद स्थायी समिति के अध्यक्ष जाधव ने धन आवंटन के बारे में सवाल उठाने पर मिश्रा को व्हाट्सएप पर मारने की धमकी दी थी।

मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जाधव द्वारा अपने मोबाइल फोन पर भेजी गई धमकी का स्क्रीनशॉट पेश किया। पुलिस में लिखित शिकायत दर्ज कराने के बावजूद पुलिस प्रशासन ने जाधव के खिलाफ कार्रवाई करने से परहेज किया है। मुम्बई महानगरपालिका में अधिकारियों द्वारा आम आदमी का पैसा लूटा जा रहा है और भारतीय जनता पार्टी इसका कड़ा विरोध करती है। बीएमसी के इतिहास में यह पहली हुआ है कि स्थायी समिति के अध्यक्ष ने सत्ताधारी पार्टी की भ्रष्ट नीतियों को उजागर किये जाने पर मोबाइल से धमकाने का काम लिया है। यह एक बहुत गंभीर मामला है और मुंबई पुलिस को तुरंत इस पर ध्यान देना चाहिए और इसमें शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। यह जानकारी भाजपा के जनसंपर्क अधिकारी सचिन पाटिल ने दी है।

मुंबई भाजपा के अध्यक्ष मंगलप्रभात लोढ़ा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सत्ता पक्ष द्वारा किए जा रहे खतरों का जवाब देगी क्योंकि निगम में प्रहरी की भूमिका सफलतापूर्वक निभाई जा रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.