सनातन धर्म का संदेश देती फिल्म ‘संघार’

मुंबई

न्यूज़ स्टैंड18 नेटवर्क
मुंबई। संघार फिल्म प्रोडक्शन टीम शशक्त रचना सुन्दर गायकी कैलाश खैर के स्वर से सुशोभित गौ माता की अशरूँ संत शिरोमणि समाज आहत करने वाली घटनाओं पर आधारित सनातन धर्म संदेश देने का प्रयास किया गया है। सिद्धार्थ इस्सर लिखती अभिनीत ये फिल्म प्रोडक्शन पुनीत इस्सर, राम कुमार पाल, मोहित गहलोत अभिनय गुफि पेन्टल, मामा श्री अन्य सभी कलाकार व राजू कुमार यादव की विशेष सहयोगीता है।
“ऐश्वर्य” को बढ़ाने वाली, “उत्तरदायित्व” को समझने एवं उपलब्ध साधनों का सदुपयोग करने की विवेकशीलता पर आधारित फिल्म है “संघार”।
मनुष्य का आंतरिक स्तर इसी आधार पर ढाला जाना चाहिए कि वह स्वयं चैन से रहे और दूसरों को चैन से रहने दे स्वयं प्रगतिशील बने और दूसरों को प्रगति के पथ पर चलने में सहयोग अनीति को न तो सहन करे और न किसी को अन्यायपूर्वक सताए अपना कर्तव्य पालन करे और दूसरों के सामने ऐसा आदर्श प्रस्तुत करे, जिससे उन्हें श्रेष्ठता के मार्ग पर चलने की प्रेरणा मिले। धन-संग्रह की तृष्णा, पद, अधिकार, सत्ता एवं अहंकार की पूर्ति में आज जिस प्रकार लोग अपनी उन्नति समझते हैं और मौज-मज़ा कर लेने को जैसे जीवन की सफलता मानते हैं, वैसे ही यदि जीवन को “आदर्श”, “महान”, “कर्तव्यरत” एवं “धर्मपरायण” बनाने की हर व्यक्ति को लगन लग जाए, तो मनुष्य “आदर्श” बन सकता है सद्भावनाओं में जिन लोगों का मन डूबा रहेगा, उनका शरीर आदर्श उपस्थित करने वाले कार्य सफल बनाए पहली धरोहर सनातन फिर सब महापुरुषों की संख्यला फिर वो किसी धर्म या जाति या त्यौहार हो जय सनातन जय सौंदर्यबोध संत धैर्यशील आशावादी दृष्टिकोण विश्व कल्याण हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.