एयर पोर्ट के पास से हटाए जाएंगे 5G के टावर, हवाई जहाज के लिए बन सकते हैं खतरा

समाचार

5G Mobile Tower: नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) और नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एयरपोर्ट के पास लगे सभी 5G टॉवर को हटाने का निर्देश दिया है।
ज्ञात हो, रिलायंस जियो और एयरटेल ने देश के कई शहरों में 5जी सेवाएं शुरू कर दी हैं। हालांकि ऐसा डर है कि दूरसंचार कंपनियों द्वारा उपयोग किए जा रहे 5जी बैंड से हवाई जहाजों में नेविगेशन उपकरण प्रभावित हो सकते हैं। यही वजह है कि नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) और नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एयरपोर्ट के पास के इलाके में 5जी सेवाओं के लिए बेस स्टेशन स्थापित नहीं करने को कहा है।
डीजीसीए ने कहा है कि, दूरसंचार कंपनियां रनवे के दोनों छोर से 2.1 किलोमीटर के दायरे में कोई 5जी बेस स्टेशन नहीं लगाएं। डीजीसीए ने कंपनियों को बफर जोन से 540 मीटर के दायरे में आने वाले सभी बेस स्टेशनों का पावर कम करने को कहा है। डीजीसीए और मंत्रालय के निर्देश के पीछे मुख्य वजह रेडियो अल्टीमीटर और जीपीएस है।
संभावना है कि नेटवर्क इंटरफ़ेरेंस के वजह से कम्युनिकेशन रेडियो में दिक़्क़त आ सकती है जिसकी वजह से फ़्लाइट कम्युनिकेशन और एयरपोर्ट ट्रैफिक कंट्रोलर के कम्युनिकेशन में समस्याएँ पैदा हो सकती हैं और ज़रूरी जानकारी पायलट और एयरपोर्ट के बीच में आदान प्रदान करने में परेशानी हो गए हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.