Andheri by election: भाजपा के मैदान छोड़ने के बाद अंधेरी में शिवसेना की नोटा से टक्कर?

मुंबई

विजय यादव
मुंबई।
अंधेरी विधानसभा के उपचुनाव पर मुंबई शहर ही नहीं बल्कि पूरे महाराष्ट्र की नजर है। यह चुनाव बहुत रोमांचक होने वाला था, स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान कराने के लिए चुनाव आयोग ने भी हर संभव तैयारियां कर ली थी, लेकिन आखिर में भाजपा उम्मीदवार की पर्चा वापसी के बाद यहां की चुनावी सरगर्मियां कुछ कम हो गई। लोग कयास लगाने लगे कि अब शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे की उम्मीदवार ऋतुजा रमेश लटके की जीत का रास्ता एकतरफा साफ हो गया है, जबकि हकीकत इसके विपरीत है।
ऐसे तो यहां सिर्फ 7 उम्मीदवार मैदान में है, लेकिन EVM मशीन पर मतदाताओं को वोट देने के लिए 7 नही 8 विकल्प दिए जायेंगे। यह आठवां विकल्प नोटा (None of the above) का होगा। क्षेत्र के जानकारों की माने तो भाजपा उम्मीदवार के हटने के बाद बड़ी संख्या में मतदाता नोटा का प्रयोग कर सकते हैं। क्षेत्र की सामाजिक और राजनीतिक गतिविधियों पर नजर रखने वाली संस्था संघर्ष के अध्यक्ष पृथ्वीराज मस्के कहते हैं, मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए स्वतंत्र है। अगर वह यहां के वर्तमान हालात पर नोटा का प्रयोग करता है तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए।
अंधेरी विधानसभा के इस उपचुनाव में एक मजबूत उम्मीदवार के रूप में नोटा भी है, जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता। 3 नवंबर को मतदान होगा। फिलहाल कुल 14 में से 7 उम्मीदवार मैदान में डटे हैं। जिसमे 3 निर्दलीय और 3 छोटे दल शामिल हैं। अब देखना होगा कि मतदाता 3 नवंबर को किसके पक्ष में अपना कितना निर्णय देता है।

अंधेरी विधानसभा उप चुनाव के सभी उम्मीदवारों के नाम:-

1)ऋतुजा रमेश लटके (शिवसेना – उद्धव बालासाहेब ठाकरे)

2) बाला वेंकटेश विनायक नादर (आपकी अपनी पार्टी – पीपुल्स)

3) मनोज श्रवण नायक (राइट टू रिकॉल पार्टी)

4) नीना खेडेकर (निर्दलीय)

5)फरहाना सिराज सैयद (निर्दलीय)

6)मिलिंद कांबले (निर्दलीय)

7) राजेश त्रिपाठी (निर्दलीय)

Leave a Reply

Your email address will not be published.