वेदांता-फॉक्सकॉन के बाद टाटा एयरबस भी महाराष्ट्र से गुजरात पहुंचा, भुजबल बोले राज्य के युवा हनुमान चालीसा पढ़ें…

समाचार

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
मुंबई।
वेदांता-फॉक्सकॉन प्रोजेक्ट के बाद अब एक और प्रोजेक्ट गुजरात चला गया है। ‘टाटा एयरबस’ परियोजना जो नागपुर में लगानी थी, अब वह गुजरात के बड़ौदा में जा रही है। इसके चलते राज्य में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है।
फॉक्सकॉन, बल्क ड्रग पार्क के बाद अब ‘टाटा एयरबस प्रोजेक्ट’, जो सी-295 कार्गो प्लेन बनाता है, भी गुजरात चला गया है। 22 हजार करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन 30 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इसलिए सियासी गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है क्योंकि राज्य से एक और बड़ा प्रोजेक्ट गुजरात चला गया है।
महाराष्ट्र से लगातार एक के बाद एक बड़ी परियोजना का महाराष्ट्र से खिसकना राज्य के युवा बेरोजगारों के लिए अच्छी खबर नहीं है। यह कोई पहला मौका नहीं है, जब महाराष्ट्र से कोई प्रोजेक्ट गुजरात चला गया है। कभी हीरा कारोबार के लिए अपनी पहचान रखने वाली मुंबई का आज सारा हीरा कारोबार खासकर हीरा तरासने का कार्य गुजरात के अहमदाबाद शिफ्ट हो गया है। इसी तरह कपड़ा कारोबार गुजरात के सूरत से चल रहा है।
इसी मामले में आज राकांपा नेता छगन भुजबल ने भी प्रतिक्रिया दी है। प्रेस कांफ्रेंस में बोलते हुए छगन भुजबल ने कहा, ‘मैंने टाटा एयर बस प्रोजेक्ट से नासिक आने का अनुरोध भी किया था, मैंने उन्हें एक पत्र भी भेजा था। उसके बाद मैं आगे कुछ नहीं कर सका, क्योंकि मेरा विभाग अलग था। एक के बाद एक बड़े प्रोजेक्ट महाराष्ट्र से बाहर होते जा रहे हैं। वेदांता के अलावा, टाटा एयर बस परियोजना इसी तरह कुछ अन्य परियोजनाएं चली गईं। टाटा के पास महाराष्ट्र में सब कुछ है, वे हमेशा महाराष्ट्र को तरजीह देते हैं। लेकिन अचानक क्या हुआ, कुछ पता नहीं और ये सारे प्रोजेक्ट गुजरात चले गए।
अब हमारे महाराष्ट्र के युवा क्या करें? आरती करें, हनुमान चालीसा पढ़ें, पटाखे फोड़ें… क्या करें? सब कुछ इतना अच्छा था। फिर भी, ये परियोजनाएं चली गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.