डाकघर में एक ही छत के नीचे तमाम सेवाएं उपलब्ध: पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

उत्तर प्रदेश

सारनाथ में डाक मेले का पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने किया शुभारम्भ

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
वाराणसी।
डाक विभाग अब सिर्फ पत्रों व मनीऑर्डर से नहीं जुड़ा है, बल्कि एक ही छत के नीचे तमाम सेवाएं उपलब्ध कराकर डाकघरों को बहुउद्देश्यीय बनाया गया है। बचत, बीमा, आधार, पासपोर्ट, कॉमन सर्विस सेंटर, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, काशी विश्वनाथ प्रसाद और गंगाजल की बिक्री जैसी तमाम सुविधाएं डाकघरों में उपलब्ध हैं। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने वाराणसी (पूर्वी) डाक मंडल द्वारा सारनाथ में आयोजित डाक मेले में संबोधन के दौरान बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किये। इस दौरान पोस्टमास्टर जनरल ने विभिन्न ग्राम प्रधानों और नागरिकों से संवाद भी किया

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आज भी डाकघर की बचत योजनाएँ सर्वाधिक लोकप्रिय हैं और इनमें लोग पीढ़ी दर पीढ़ी सुरक्षित निवेश करते आ रहे हैं। वाराणसी परिक्षेत्र में अब तक 28.70 लाख बचत खाते, 5.21 लाख आईपीपीबी खाते और 2.55 लाख सुकन्या समृद्धि खाते खोले जा चुके हैं। 686 गाँवों को सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम बनाया जा चुका है। बालिकाओं के सुरक्षित भविष्य एवं नारी सशक्तिकरण के बहुमूल्य साधन के रूप में डाक विभाग की अग्रणी भूमिका को रेखांकित करते बताया कि उनके उज्जवल भविष्य के लिए अभी से उन्हें आर्थिक व सामाजिक रूप से सुदृढ़ करने की जरूरत है। इसमें ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के तहत प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा आरंभ ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से डाकिया और ग्रामीण डाक सेवक आज एक चलते फिरते बैंक के रूप में कार्य कर रहे हैं। किसानों सहित अन्य तमाम लाभार्थियों के बैंक खातों में आने वाली डीबीटी राशि की निकासी के लिए अब किसी को भी बैंक या एटीएम जाने की जरूरत नहीं, बल्कि घर बैठे ही सभी अपने आधार लिंक्ड बैंक खाते से डाकिया के माध्यम से निकासी कर सकते हैं। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ भी डाकिया के माध्यम से लिया जा सकता है। सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाने हेतु आधार जरूरी है, ऐसे में अब घर बैठे डाकिया के माध्यम से ही आधार से लिंक मोबाइल नम्बर भी अपडेट किया जा सकता है। श्री यादव ने बताया कि आमजन को विभिन्न सेवाओं के लिए भटकना न पड़े और सारी सेवाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध हो सकें, इसके लिए अब डाकघरों में भी काॅमन सर्विस सेंटर के माध्यम से एक साथ केंद्र व विभिन्न राज्य सरकारों की 73 सेवाएँ मिल रही हैं।

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री राजन ने कहा कि विभिन्न डाक योजनाओं के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु डाक विभाग द्वारा पहल की जा रही है। डाक मेले के दौरान 2,000 से ज्यादा डाकघर बचत बैंक खाते और 500 बेटियों के सुकन्या समृद्धि खाते खोले गए। मात्र 250 रुपये में खोले जाने वाले सुकन्या समृद्धि खाते में एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं। बालिका के 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेने अथवा 10वीं कक्षा पास कर लेने के उपरांत जमा राशि का 50 प्रतिशत तक निकाला जा सकता है। खाते की परिपक्वता अवधि खाता खोलने की तारीख से 21 वर्ष है, तथापि बालिका द्वारा 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेने के बाद विवाह के समय बंद किया जा सकता है।

इस कार्यक्रम में प्रवर डाकघर अधीक्षक राजन राव, ग्राम प्रधान आशापुर संतोष पाण्डेय, ग्राम प्रधान हिरामनपुर घनश्याम पटेल, ग्राम प्रधान सिंघपुर श्याम प्रकाश, ग्राम प्रधान बरियासनपुर देवराज पटेल, सहायक डाक अधीक्षक सुरेन्द्र कुमार चौधरी, दिलीप सिंह यादव, निरीक्षक डाकघर रमेश यादव, सर्वेश सिंह, श्रीकान्त पाल, पोस्टमास्टर सारनाथ उपडाकघर रामरतन पाण्डेय, श्रीप्रकाश गुप्ता, कुलभूषण तिवारी, नितिन पांडेय सहित तमाम स्थानीय जनप्रतिनिधि, अधिकारी -कर्मचारी एवं सम्मानित जनता ने भागीदारी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.