मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पत्रकार मुकेश कुमार मासूम के पत्र दिया अधिकारियों को निर्देश, गौतम बुद्ध नगर के दयानतपुर गांव का होगा विकास

उत्तर प्रदेश समाचार

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
नोएडा।
वरिष्ठ पत्रकार, फिल्मी लेखक, समाजसेवक और जाने – माने बिजनेसमेन मुकेश कुमार मासूम के पत्र पर मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री ने उनकी मांगों पर सुध लेते हुए अथॉरिटी को आदेश दिए हैं।
ज्ञात हो मुकेश कुमार मासूम ने प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदि को पत्र भेजकर गाँव तथा पोस्ट दयानतपुर, तहसील जेवर, जिला गौतम बुद्ध नगर , उत्तर प्रदेश के सम्पूर्ण विकास की मांग की थी।
उन्होंने पत्र में लिखा था, मैं, यहां की मूलभूत समस्याओं के सदर्भ में आकृष्ट करना चाहता हूँ। इस गाँव में विगत कई वर्षों से कोई भी पंचायत प्रतिनिधि नहीं है। इसका कारण ये है कि यहाँ पर विगत कई वर्षों से ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत अथवा जिला पंचायत के चुनाव ही नहीं हुए है। इसका कारण ये है कि इलाहाबाद हाई कोर्ट और सरकार इस दयानतपुर गाँव को गाँव न मानकर शहरी क्षेत्र (औद्योगिक टाउनशिप) मानती है। ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत अथवा जिला पंचायत प्रतिनिधि न होने के साथ-साथ यहाँ पर किसी तरह का कोई शहरी प्रतिनिधि जैसे कि नगर निगम सदस्य या चेयरमैन भी नहीं है। इसका अर्थ ये हुआ कि यहाँ पर न तो ग्राम पंचायत का चुनाव होता है और न ही शहरी नगर निगम का।
यही कारण है कि यहाँ पर मूलभूत समस्याओं का समाधान नहीं हो पाता है। यूँ कहने को यहाँ पर एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा बन रहा है और इसी दयानतपुर गाँव के किसानों ने इस एयरपोर्ट के लिए सबसे ज्यादा जमीन सरकार को उपलब्ध कराई है लेकिन इस गाँव में अभी तक लोग विकास की राह तक रहे हैं।
प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने मुकेश कुमार मासूम की समस्याओं को गंभीरतापूर्वक लेते हुए सम्बंधित अधिकारियों को तुरंत समस्या का समाधान करने के आदेश दिये हैं। नोएडा औद्योगिक प्राधिकरण के सहायक प्रबन्धक श्री संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि अधिकारियों की एक टीम शीघ्र ही दयानतपुर गांव का दौरा करेगी और प्राधिकरण के अधिकार छेत्र में जितना रहेगा, उतना विकास प्राथमिकता के आधार पर किया जायेगा।
मुकेश कुमार मासूम की मुख्य मांगें इस प्रकार हैं,1 गाँव तथा पोस्ट – दयानतपुर, तहसील जेवर, जिला गौतम बुद्ध नगर, उत्तर प्रदेश से होकर जो यमुना एक्सप्रेस वे गुजरता है उसके सर्विस रोड को तत्काल प्रभाव से पक्का कराये जाने अर्थात उसका डाबरीकरण कराये जाने की सख्त आवश्यकता है। इसके साथ ही यहाँ पर तुरंत स्ट्रीट लाइट का इंतजाम किया जाना चाहिए। इस सर्विस रोड की हालत बेहद ख़राब है। अभी तक यह कच्चा मार्ग है और इसमें अनगिनत गड्ढे बने हुए हैं इस कारण यहाँ पर आये दिन हादसे होते रहते है। अभी तक न जाने कितने लोग दुर्घटना के शिकार हो चुके है। बरसात के दिनों में तो यहाँ से पैदल निकलना भी दूभर हो जाता है। अगर इस मार्ग को तुरंत पक्का करके स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था नहीं की गयी तो और भी गंभीर दुर्घटनाएं हो सकती हैं, जिसका जिम्मेदार शासन-प्रशासन होगा। यमुना एक्सप्रेस वे के इस सर्विस रोड (दयानतपुर से फलैदा कट तक) के पक्का होने से रोजाना लाखों ग्रामीण लाभान्वित होंगे। फिलहाल दयानतपुर गाँव के रजवाहे से होकर नगला हुकम सिंह की तरफ से ग्रामीणों तथा एयरपोर्ट पर कार्य कर रहे वाहनों को आना – जाना पड़ता है, उस मार्ग की हालत भी दयनीय हो चुकी है और आये दिन जाम भी लगते रहते हैं। अगर दयानतपुर एक्सप्रेस वे के सर्विस रोड को पक्का कर दिया गया तो ये सभी लोग आसानी से नॉएडा – आगरा आदि मंजिल तक आसानी से पहुँच सकते है। अतः गाँव तथा पोस्ट – दयानतपुर , तहसील जेवर , जिला गौतम बुद्ध नगर , उत्तर प्रदेश से होकर जो यमुना एक्सप्रेस वे गुजरता है उसके सर्विस रोड को तत्काल प्रभाव से पक्का कराये जाने अर्थात उसका डाबरीकरण कराये जाने की सख्त आवश्यकता है।
2 गंव दयानतपुर का मुख्य मार्ग जो भोले मंदिर से होकर बेगमवाद की तरफ जाता है उसको तत्काल पक्का कराये जाने और उसका चौड़ीकरण कराये जाने की तुरंत आवश्यकता है।
3 गाँव दयानतपुर में एक डॉ आंबेडकर भवन बनाये जाने आवश्यकता है। इसके लिए शासन को जमीन स्वीकृत कर डॉ आंबेडकर भवन बनाने की शुरुआत करनी चाहिए। इसी प्रकार सर्व समाज के लिए एक सामुदायिक भवन, बच्चों के खेलने के लिए सरकारी खेल का मैदान और सर्व समाज के लिए अलग – अलग सार्वजानिक शौचालय का निर्माण करना चाहिए। महिला और पुरुषों के लिए अलग- अलग शौचालयों का निर्माण होना चाहिए। साथ ही यहाँ के निवासियों के लिए जॉगिंग ट्रैक (घूमने का मैदान) बनाये जाने की सख्त आवश्यकता है। ताकि लोग स्वच्छ हवा में सांस ले सकें और टहल सकें। सवस्थ समाज के लिए ये बहुत जरूरी है। पढने के लिये लाइब्रेरी बनायी जाये तथा आंगनवाड़ी कर्मचारियों के लिये अलग कार्यालय की स्थापना की जाये जिससे कि वे और बेहतर तरीके से कार्य को अंजाम दे सकें।
4 गाँव दयानतपुर में सरकारी अस्पताल का निर्माण होना चाहिए क्योंकि यहाँ पर एक भी अस्पताल नहीं है। गाँव से जेवर की दूरी 6 किलोमीटर है। एक्सप्रेस वे का सर्विस रोड गड्ढायुक्त है तथा कच्चा है, गाँव का मुख्य मार्ग भी ऊबड़ -खाबड़ और संकरा है तथा अक्सर वहां जाम की स्थिति बनी रहती है। इसलिए यहाँ पर एक सरकारी अस्पताल की सख्त आवश्यकता है।
5 यहाँ के सर्व समाज के लिए एक बारात घरों की व्यवस्था सरकार को करनी चाहिए।
6 जो गलियां अभी तक कच्ची हैं उन सबको शीघ्र पक्की कराये जाने की आवश्यकता है।
7 यहाँ के शमशान की हालत बहुत दयनीय है उसका नवीनीकरण कराये जाने और यहाँ पर शीघ्र चार- चार बड़े कमरे बनाये जाने की आवश्यकता है ताकि बारिस के दिनों में लकड़ियां ( ईंधन ) सुरक्षित रह सके।
8 यमुना एक्सप्रेस वे के दयानतपुर के सभी ब्रिज ( पुल ) के नीचे अँधेरा रहता है वहां पर तुरंत स्ट्रीट लाइट लगाने की जरुरत है।
9 समस्त गाँव दयानतपुर व उसके सभी माजरों जैसे बेगमाबाद आदि की गलियों में तुरंत स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था की जानी चाहिए।
10 बरसात के दिनों में पानी की निकासी की उचित और अत्याधुनिक व्यवस्था की जानी चाहिए।
11 गाँव में कचरों का अम्बार लगा रहता है अतः जगह -जगह कचरे के ड्रम आदि की व्यवस्था करके गाँव को स्वच्छ और साफ़ रखने की व्यवस्था की जाये ताकि गाँव में रहने वाले लोग बीमारियों से बच सके।
जब यह गाँव ( गाँव तथा पोस्ट – दयानतपुर , तहसील जेवर , जिला गौतम बुद्ध नगर , उत्तर प्रदेश सरकार के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्र के अंतर्गत न आकर शहरी क्षेत्र में आता है तो आज तक यहाँ पर शहरी सुविधाओं का भाव क्यों है ? अभी तक नोयडा प्राधिकरण के अधिकारियों को इस गाँव की दुर्दशा क्यों नहीं दिखाई देती ? शासन- प्रशासन ने आज तक यहाँ की सुध क्यों नहीं ली ? इस गाँव के साथ सरकार का सौतेला रवैया अक्षम्य है।
हम यह स्पष्ट करदें कि स्थानीय विधायक आदरणीय श्री धीरेन्द्र सिंह ने जेवर क्षेत्र में उल्लेखनीय और सराहनीय विकास कार्य किये है। ( उन्होंने भोले मंदिर से बेगमाबाद वाले मुख्य मार्ग ) को स्वीकृत भी करवा दिया है। हम उनकी सराहना करते हुए गाँव तथा पोस्ट – दयानतपुर , तहसील जेवर , जिला गौतम बुद्ध नगर, उत्तर प्रदेश में भी उपरोक्त विकास कार्य करने का विनम्र निवेदन करते हैं। मुकेश कुमार मासूम ने आशा व्यक्त की है कि सम्बंधित अधिकारी माननीय मुख्यमंत्री और माननीय प्रधानमंत्री के आदेशों का शीघ्र पालन करेंगे । अगर इसमें कोताही बरती गयी तो बड़े पैमाने पर आंदोलन किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.