ठाकरे और अंबेडकर के एक साथ आने से फर्क नहीं: रामदास आठवले

मुंबई

मुंबई। उद्धव ठाकरे और प्रकाश अंबेडकर भले ही एक साथ आ जाएं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि भीमशक्ति हमारे पीछे है। सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस और राष्ट्रवादियों के बीच मतभेद होगा। यह कहना है, केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रामदास अठावले का।
उन्होंने चेतावनी दी है कि गठबंधन टूटने में देर नहीं लगेगी। सांगली में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने उद्धव ठाकरे और प्रकाश अंबेडकर पर निशाना साधा।
रामदास आठवले ने कहा भीमशक्ति मेरे पीछे है, अगर ठाकरे और अंबेडकर एक साथ आ भी जाएं, तो इसका ज्यादा राजनीतिक असर नहीं होगा। राज्य में शिंदे सरकार मजबूत है और पूरे कार्यकाल तक चलेगी और 2024 में बड़ी ताकत के साथ सत्ता में आएगी। सरकार अस्थिर नहीं है जैसा कि संजय राउत कहते हैं। आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी के 350 और एनडीए के 450 सांसद चुने जाएंगे। राहुल गांधी प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे। आठवले ने यह भी कहा कि उनकी भारत जोड़ो यात्रा भारत को तोड़ देगी और उन्हें पहले कांग्रेस जोड़ो यात्रा करनी चाहिए।
छत्रपति शाहू महाराज की शताब्दी के अवसर पर 5 और 6 मई को कोल्हापुर में रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया का अधिवेशन आयोजित किया गया है। आठवले ने यह भी जानकारी दी है कि 6 तारीख को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे मौजूद रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.