मुंबई मनपा चुनाव अपने दम पर लड़ेगी कांग्रेस

मुंबई

न्यूज स्टैंड18 डेस्क
मुंबई।
कांग्रेस के नेता आगामी मुंबई महानगर पालिका चुनाव अपने दम पर लड़ने की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए पार्टी के नेता दिल्ली की ओर भागने लगे हैं।
सूत्रों ने जानकारी दी है कि मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष भाई जगताप की दिल्ली में मौजूदगी बढ़ गई है। समझा जाता है कि भाई जगताप ने दिल्ली में पार्टी नेताओं से मुलाकात कर अपनी रणनीति से अवगत करा दिया है। वार्ड पुनर्गठन और आरक्षण ड्रॉ में कांग्रेस की हार को देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि मुंबई मनपा में कांग्रेस बनाम शिवसेना का मुकाबला होगा।
जब राज्य में शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का महागठबंधन हुआ था, तब कई कांग्रेस नेताओं की मांग थी कि वे मुंबई मनपा का आगामी चुनाव अपने दम पर लड़ें। हालांकि मुंबई दौरे के दौरान महाराष्ट्र के प्रभारी एच. के. पाटिल ने इस चर्चा को समाप्त कर दिया था। लेकिन सत्ता हस्तांतरण के बाद अब एक बार फिर मुंबई कांग्रेस ने यह मांग पार्टी नेताओं के सामने रख दी है।
मुंबई मनपा के वार्डों का पुनर्गठन और हाल ही में घोषित आरक्षण ड्रा में मुंबई कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। वार्ड पुनर्गठन से पार्टी के नेता प्रतिपक्ष रवि राजा समेत 15 से अधिक पार्षदों में हड़कंप मच गया है। इस संबंध में कांग्रेस की ओर से कई बार लिखित शिकायत भी की गई थी। लेकिन प्रशासन ने उन्हें कचरे की टोकरी दिखाई। इसलिए जानकारी सामने आई है कि मुंबई कांग्रेस ने फिर से अपने दम पर लड़ने की जिद की है।
सूत्रों ने जानकारी दी कि भाई जगताप हाल ही में पार्टी नेताओं को इम्प्रेस करने दिल्ली पहुंचे हैं। मालूम हो कि वह इस बैठक के दौरान कांग्रेस के कई नेताओं से मिल चुके हैं और इन सभी मामलों पर विस्तार से चर्चा की है। जगताप का यह पहला दौरा नहीं है, बल्कि पिछले दो महीने में दूसरी बार दिल्ली का दौरा करने के बाद राज्य के राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा शुरू हो गई है।
इस बीच कांग्रेस सूत्रों ने मुंबई मनपा में कांग्रेस बनाम शिवसेना मैच की संभावना की भविष्यवाणी भी की है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस फिर से शिवसेना के खिलाफ बगावत का आह्वान करेगी। पार्टी जल्द ही इस संबंध में अपनी स्थिति का ऐलान करेगी।
नगर निगम के वार्डों के पुनर्गठन और आरक्षण ड्रा के दौरान कांग्रेस के सुझावों और आपत्तियों को अनसुना करने पर कांग्रेस के कई पूर्व नगरसेवक और नेताओं ने कड़े शब्दों में अपनी नाराजगी व्यक्त की है। इस संबंध में मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से भी अपील की थी। हालांकि इस संबंध में कोई निर्णय नहीं लिया गया है, इसलिए संभावना है कि इसका असर मुंबई मनपा चुनाव पर पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.