मुंबई में जी20 की बैठक शुरू, बोरीवली की कन्हेरी गुफा भी जायेंगे प्रतिनिधि

मुंबई समाचार

मुंबई। G20 Summit: डेवलपमेंट वर्किंग ग्रुप (Development Working Group-DWG) G20 की बैठक मुंबई में 13 दिसंबर से शुरू हो गई है। जिसे देखते हुए हफ्ते भर के लिए मुंबई में कई जगह ट्रैफिक पर पाबंदी लगा दी गई है। यह बैठक सांताक्रूज (पूर्व) में होटल ग्रैंड हयात हो रही है। G20 की यह बैठक 16 दिसंबर तक चलेगी। PIB से मिली जानकारी के अनुशार आने वाले प्रतिनिधियों के लिए मुंबई में प्रसिद्ध कन्हेरी गुफाओं के भ्रमण की भी योजना बनाई गई है। सांताक्रूज से बोरीवली तक जाने के पश्चिम एक्सप्रेस हाइवे को युद्ध स्तर पर साफ सुथरा करने का काम किया जा रहा। आरे कालोनी सिगनल, पाठनवाड़ी, समता नगर कांदिवली से बोरीवली तक हाइवे किनारे की सभी जगहों को साफ कर वहां पौधों के गमले लगा दिए गए हैं, जिससे विदेशी मेहमानों को शहर की गंदगी नजर नहीं आए।
जिस जगह जी बैठक चल रही है। उन इलाकों में वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाई गई है। मुंबई में ट्रैफिक के नए दिशा-निर्देश 16 दिसंबर तक लागू रहेंगे।
भारत की अध्यक्षता के अंतर्गत जी20 की विकास कार्य समूह (डीडब्ल्यूजी) की पहली बैठक वर्तमान में मुंबई में चल रही है। इसके सदस्य, अतिथि देश और आमंत्रित अंतर्राष्ट्रीय संगठन व्यक्तिगत रूप से इस बैठक में भाग ले रहे हैं।

तीन दिवसीय विकास कार्य समूह की बैठक सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) पर प्रगति में और तेजी लाने के लिए जी20 के सामूहिक कार्यों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ ही खाद्य, ईंधन एवं उर्वरक सुरक्षा से संबंधित तत्काल चिंताओं से निपटने में भी विकासशील देशों को समर्थन देगी।
बैठक के पहले दिन “विकास के लिए डेटा (डी4डी) : 2030 के एजेंडा को आगे बढ़ाने में जी20 की भूमिका” और “हरित विकास में नए जीवन (एलआईएफई) का संचार” पर अलग से दो कार्यक्रम आयोजित किए गए।

डी4डी पर अलग से कार्यक्रमों का आयोजन संयुक्त राष्ट्र महासचिव के दूत प्रौद्योगिकी (ओएसईटी) कार्यालय के अंतर्गत पर्यवेक्षक शोध संस्थान (ओआरएफ ) तथा व्यापार एवं विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (यूएनसीटीएडी) के सहयोग से किया गया था। भारत की जी20 अध्यक्षता के दौरान शेरपा ट्रैक के अंतर्गत विकास कार्य समूह में होने वाले विकास के लिए डेटा (डेटा फॉर डेवलपमेंट – डी4डी) पर आगे के विचार-विमर्श हेतु इस कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की गई थी।

डी4डी पर सत्र भारत के जी20 शेरपा अमिताभ कांत के स्वागत भाषण के साथ शुरू हुआ। अपने संबोधन में श्री कांत ने नागरिकों, विकासशील देशों, यहां तक कि विकसित देशों के जीवन में बदलाव के लिए अच्छी गुणवत्ता, वास्तविक समय और सुलभ डेटा के महत्व को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि डेटा हर राजनीतिक नेता तथा हर सरकारी कर्मचारी को अपने लोगों के प्रति उत्तरदायी बनाएगा।
इस सत्र में केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी तथा केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्य मंत्री मंत्री श्री राजीव चंद्रशेख, विकास के उद्देश्य से समावेशी वित्त के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव की विशेष अधिवक्ता एवं नीदरलैंड की महामहिम रानी मैक्सिमा, इंफोसिस के गैर-कार्यकारी अध्यक्ष और भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के पूर्व अध्यक्ष श्री नंदन नीलेकणि ने अपने विचार व्यक्त किएI

श्री राजीव चंद्रशेखर ने अपने संबोधन में कहा कि, “हमें डिजिटल अर्थव्यवस्था को विशवास एवं सुरक्षा के संयुक्त चश्मे से देखना चाहिए। हमें प्रौद्योगिकी, इंटरनेट और वास्तव में डेटा के लिए एक ऐसा नया अंतर्राष्ट्रीय ढांचा बनाने के लिए मिलकर काम करना चाहिए जो जनता को अच्छे और सतत विकास को मुख्यधारा में ला सके।
अपने मुख्य भाषण में विकास के उद्देश्य से समावेशी वित्त के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव की विशेष अधिवक्ता एवं नीदरलैंड की महामहिम रानी मैक्सिमा ने कहा कि “वित्तीय समावेशन विकास का एक शक्तिशाली उपकरण है। कुल 17 सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) में से 8 इसे शून्य गरीबी, कोई भूख नहीं, अच्छा स्वास्थ्य, लैंगिक समानता और आर्थिक विकास प्राप्त करने में सहायता करने के एक तरीके के रूप में उजागर करते हैं।
बैठक का पहला दिन एक सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समाप्त हुआ, जिसमें महाराष्ट्र के माननीय राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी, माननीय मुख्यमंत्री श्री एकनाथ शिंदे, माननीय उपमुख्यमंत्री श्री देवेंद्र फडणवीस और अन्य वरिष्ठ गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

सांस्कृतिक कार्यक्रम में महाराष्ट्र के समृद्ध लोक नृत्य और संगीत परंपराओं को प्रदर्शित किया गया। अभंग, कोली, सूफी, लावणी, गोंधल और जोगवा कुछ लोक-नृत्य रूप थे जो प्रतिनिधियों के समक्ष प्रस्तुत किए गए। आज का एक आश्चर्यजनक तत्व अधिकांश महिला सदस्यों वाली 50 सदस्यीय मंडली द्वारा एक उच्च-ऊर्जा प्रतिस्पर्धी प्रदर्शन पुनेरी ढोल वादन था। प्रतिनिधियों को गेटवे ऑफ़ इंडिया की भी एक निर्देशित यात्रा कराई गई जहां इस अवसर पर जी20 के प्रतीक चिन्ह को आलोकित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.