मुंबई के आजाद मैदान में जैन समाज की विशाल अहिंसा महारैली

मुंबई समाचार

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
मुंबई।
भारत जैन महामंडल एवं जैन समाज के मुख्य संघटनो के तत्वावधान में सकल जैन समाज की विशाल रैली मेट्रो टॉकीज से आजाद मैदान तक हजारों की संख्या में शामिल होकर जैन अनुयायियों ने चारों संप्रदाय के साधु, साध्वी (नयपदम सागर जी महाराज साहेब, प्रणाम सागर जी, लोकेश मुनि जी, देवेन्द्र भाईजी )के सानिध्य में निकाली और अपना आक्रोश व्यक्त किया।

जैनियों के प्रमुख एवं मुख्य तीर्थ श्री सम्मेदशिखर को पर्यटक स्थल घोषित करने के विरोध में विशाल निषेध रैली का सफल आयोजन जैनों ने हाथ में जैन ध्वज और बैनर लेकर किया, सब महिलाएं केसरिया साड़ी एवं पुरुष सफेद वस्त्र में शामिल थे।


ज्ञातब्य है की झारखंड राज्य सरकार ने इस मुख्य तीर्थ स्थल को पर्यटन स्थल घोषित किया है। इससे सम्पूर्ण जैन समाज की भावनाएं बहुत आहत हुई है। इस मुद्दे को लेकर सम्पूर्ण देश में जैन समाज आंदोलन कर रहा है
अहिंसा एवं शांति में विश्वास रखने वाला समाज पूर्ण अनुशासन एवं संयमित आंदोलन कर रहा है।

इस अवसर पर भारत जैन महामंडल के अध्यक्ष राकेश मेहता ने अपने संबोधन में कहा कि हमारी भावनाएं आहत हुई है। हमे संप्रदाय के भेद को मिटाकर इस महामंडल के मंच से पूरे जैन समाज को एकत्रित होकर हमारी बात सरकार तक पहुंचाना है जिससे सरकार जल्दी ही जैन समाज के हित में आवश्यक कार्यवाही करे तथा श्री दिगंबर जैन ग्लोबल महासभा के अध्यक्ष जमनालाल हपावात ने कहा की सम्मेद शिखरजी के साथ पालीताणा तीर्थ में भी असामाजिक तत्वों एवं अवैध निर्माण एवं अवांछित गतिविधियों के कारण तीर्थस्थल में अपवित्र वातावरण बन गया इस पर भी गुजरात सरकार जल्दी ही संज्ञान ले।

आज के इस विशाल रैली में मुख्य रूप से विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर, ऑलइंडिया जैनस्वेतांबर कॉन्फरन्स के प्रेसिडेंट चंपालाल वर्धन, शांतिलाल कवाड़, शिखरचंद पहाड़िया, लायन सुरेश जैन, बिपिन मेहता, पूर्वमंत्री प्रकाश आव्हाड, बीजेपी नेता राज पुरोहित, गीता जैन, कवयित्री अनामिका अम्बर, जीतो प्रेसिडेंट अभय श्री श्रीमाल, प्रशांत जवेरी तथा अन्य गणमान्य के साथ भारी संख्या में जैन धर्मावलंबी शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.