अगर आपकी मां और बहन सुरक्षित नहीं हैं तो आपको जय श्री राम कहने का क्या अधिकार है: नितेश राणे

मुंबई

कोल्हापुर। बीजेपी विधायक नितेश राणे कोल्हापुर में काफी आक्रामक नजर आए। बुधवार (2 नवंबर) को कोल्हापुर में लव जिहाद के खिलाफ निकाले गए एक विरोध मार्च में विधायक राणे बोल रहे थे। उन्होंने कहा चूल्हे में जाने दो विधायकी, डब्बे में जाए सांसदी। जिसकी गिनती नहीं है। जब मेरी मृत्यु होगी तो विधायक नाम नहीं मिलेगा। जब मैं मरूंगा तो लोग कहेंगे कि एक हिंदू मर गया।
नितेश राणे ने कहा, “मुझे एक ऐसी घटना दिखाओ जहां मुसलमानों के पास विरोध करने का समय हो। उनके किसी भी व्यक्ति या धर्म को कुटिल दृष्टि से देखने वाला जीवित नहीं रहता। मैं आपको अनगिनत उदाहरण दे सकता हूं। हमें टोपी पहननी है, हमें मास्क पहनना है, हमें नारे लगाने हैं। हमें किरण पावस्कर, नितेश राणे की जरूरत है, तभी हम कुछ करते हैं और उसके बाद ही हम कुछ करते हैं। यही हमारी त्रासदी है।
हम यहां भाषण देने के लिए एकत्र नहीं हुए हैं। विधायक को चूल्हे में जाने दो, सांसद को डब्बे में जाने दो, जिसकी गिनती नहीं है। मेरे मरने पर विधायक पद नहीं मिलेगा। इसलिए आज यह तय करना आवश्यक है कि आप हिंदुओं के रूप में कैसे रहने वाले हैं, आप हिंदुओं के रूप में अपने धर्म की रक्षा कैसे करने जा रहे हैं।
नितेश राणे ने कहा, एक हिंदू लड़के ने शहर में एक मुस्लिम लड़की से शादी की। उसके बाद उस जगह के सभी मुसलमानों ने मिल कर लड़के को कुचल दिया। क्योंकि वह लड़का हिंदू था। वे वहाँ धरने पर नहीं बैठे, वे वहाँ टोपी पहनकर और नारे लगाते हुए नहीं बैठे। अगर आपकी मां और बहन घर पर सुरक्षित नहीं हैं तो आपको जय श्री राम कहने और भगवा गमछा पहनने का क्या अधिकार है?” राणे ने यह सवाल किया।
नितेश राणे ने कहा, ‘मैं पूरे पुलिस विभाग को दोष नहीं दे रहा हूं। सभी पुलिस वाले ऐसे नहीं होते हैं, लेकिन मैं आपको अपना वचन देता हूं कि जो कुछ बेकार हैं उन्हें दंडित किया जाएगा। हालांकि, सभी पुलिस को जो कहा जा रहा है वह गलत है। आज प्रदेश में हिंदुत्ववादी विचारधारा की सरकार है। आज राज्य का कोई अल्पसंख्यक मंत्री नहीं है, नवाब मलिक, हसन मुश्रीफ कोई मंत्री नहीं है, उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री नहीं हैं। यह हिंदू के रूप में सम्मानित होने वाली मविआ सरकार नहीं है।
हिंदु के रूप में अपनी आवाज उठाएं, एक साथ आएं। नितेश राणे देखेंगे कि आपको सुरक्षित घर कैसे भेजा जाता है। मेरा आपसे वचन है। क्योंकि याद रहे कि देवेंद्र फडणवीस वहां गृह मंत्री के रूप में बैठे हैं। गृह मंत्री के रूप में एक कटु हिंदू व्यक्ति बैठा है, तो चिंता न करें।
(मराठी खबर से अनुवाद)

Leave a Reply

Your email address will not be published.