JDU अध्यक्ष शरद यादव का निधन, राहुल गांधी बोले मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा

समाचार

Sharad yadav: JDU (जनता दल यूनाइटेड) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का आज (गुरुवार) को निधन हो गया। इस खबर की पुष्टि उनकी बेटी ने की है। शरद यादव 75 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। बिहार की राजनीति में अपनी अलग पहचान रखने वाले शरद यादव का जाना सभी को दुखी कर गया है।
समाजवाद वाली उनकी राजनीति ने उन्हें जनता के बीच लोकप्रिय बना दिया था। गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में उनका निधन हो गया।
शरद यादव की बेटी सुभाषिनी ने ट्विटर पर अपने पिता की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए लिखा है कि, पापा नहीं रहे। फोर्टिस अस्पताल ने अपने बयान में कहा है कि शरद यादव को बेहोशी की हालत में अस्पताल लाया गया था। उनमें कोई पल्स नहीं थी। प्रोटोकॉल के तहत उन्हें CPR दिया गया था। तमाम कोशिशों के बावजूद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका। रात 10.19 पर उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके परिवार के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं।
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि, शरद यादव जी समाजवाद के पुरोधा होने के साथ एक विनम्र स्वभाव के व्यक्ति थे। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है।
उनके शोकाकुल परिजनों को अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। देश के लिए उनका योगदान सदा याद रखा जाएगा।
बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि मंडल मसीहा, राजद के वरिष्ठ नेता, महान समाजवादी नेता मेरे अभिभावक आदरणीय शरद यादव जी के असामयिक निधन की खबर से मर्माहत हूं। कुछ कह पाने में असमर्थ हूं। माता जी और भाई शांतनु से वार्ता हुई. दुःख की इस घड़ी में संपूर्ण समाजवादी परिवार परिजनों के साथ है। कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने भी दुख जताया है। शुक्ला ने कहा- पूर्व केंद्रीय मंत्री और जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव जी के निधन के बारे में जानकर स्तब्ध और पीड़ा हुई। वे एक अच्छे राजनेता थे जो लोगों की नब्ज समझते थे। उनके परिवार और अनुयायियों के प्रति मेरी संवेदनाएं। ओम शांति।

Leave a Reply

Your email address will not be published.