Kerala news: तांत्रिक के कहने पर धन लाभ के लिए दो महिलाओं की बलि

समाचार

एर्नाकुलम। जहां देश दुनिया में विज्ञान आए दिन नए अविष्कार कर रहा है, इंसान धरती से चांद तक की यात्राएं कर रहा है, वहीं आज भी अंध विश्वास की कुरीतियां विद्यमान हैं। इसके पीछे इंसान की मूर्खतापूर्ण सोच और बाबा, तांत्रिक हैं। आज भी समाज में ऐसे लोग मौजूद हैं जो पेट दर्द होने पर डाक्टर से दवाई लेने की बजाय तांत्रिक से भभूत लेता है। ऐसी ही मानसिकता ने केरल के पठानमथिट्टा जिले में दो महिलाओं की जान ले ली।
मिली जानकारी के अनुशार कथित तौर पर आर्थिक लाभ के लिए पति पत्नी ने दो महिलाओं की हत्या कर दी। मारी गई दोनों महिलाएं एर्नाकुलम जिले की रहने वाली हैं। पुलिस ने कहा कि इस मामले में आरोपी तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया गया है और एलंथुर के पति-पत्नी भगवपाल सिंह और लैला को भी हिरासत में लिया गया है। एलांथुर गांव में हुई इस घटना में दो महिलाओं का अपहरण कर सिर काट दिया गया। बाद में उन्हें जमीन में दफना दिया गया, पुलिस ने मंगलवार को कहा।

इस मामले में शफी उर्फ ​​राशिद को पेरुंबवुर से गिरफ्तार किया गया है। शफी खुद को तांत्रिक बताता था। हिरासत में लिए गए भगवपाल सिंह एक पारंपरिक वैद्य होने का दावा करते हैं। उनके पास कई लोग इलाज के लिए आते हैं। वह इस मामले में पहले आरोपी हैं। शफी पैसे का लालच देकर इलाज के बहाने इन दोनों महिलाओं को भगवपाल के पास ले गया। इन महिलाओं की बहुत बेरहमी से हत्या की गई। पुलिस को आशंका है कि यह मानव बलि का एक रूप हो सकता है।
पुलिस के अनुसार, एर्नाकुलम जिले का एक लॉटरी विक्रेता रोसलीन जून में लापता हो गई थी, जबकि एक और लॉटरी विक्रेता पद्मा सितंबर में लापता हो गई थी। पद्मा की तलाश करते समय पुलिस को शक हुआ कि वह इंसानी शिकार हो सकती है। आरोप है कि आर्थिक तंगी से जूझ रहे आरोपी दंपति ने आर्थिक फायदे के लिए ऐसा किया। पुलिस ने दावा किया कि उसने और उसके साथी ने भी यही कबूलनामा दिया है। तमिलनाडु की रहने वाली पद्मा का कॉल रिकॉर्ड चेक किया गया और पुलिस शफी तक पहुंच गई। उसकी जांच में हत्या का मामला सामने आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.