Lakhimpur Kheri case: फिल्मी अंदाज में दो बेटियों का घर से अपहरण और हत्या, क्यों बेखौफ हैं उत्तर प्रदेश में अपराधी

उत्तर प्रदेश समाचार

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
लखीमपुर खीरी।
एक बार फिर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) शर्मसार हुआ है, जहां दिनदहाड़े फिल्मी अंदाज में अपराधी दो सगी बहनों को बाईक पर जबरन बैठाकर उठा ले गए और करीब दो घंटे बाद दोनों बेटियों की लाश खेत में एक पेड़ से लटकी मिली। फिलहाल मामले में शामिल 6 अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना ने उन्नाव (unnav) और हाथरस (hathras) घटनाओं की याद को ताजा कर दिया है। यह घटना देश के उस राज्य में हुई है, जहां अपराधियों के घरों पर सीधे बुलडोजर चढ़ा दिया जाता है। राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi adityanath) को अपराधियों के प्रति कठोर कार्रवाई करने वाले सीएम के रूप में जाना जाता है। क्या अभी भी उत्तर प्रदेश में अपराधियों को बाबा जी की बुलडोजर (buldozer) का खौफ नहीं है। यह सवाल प्रदेश की जनता कर रही है।
आईजी लखनऊ रेंज लक्ष्मी सिंह ने प्रेस को बताया है कि, लखीमपुर खीरी के एक गांव के बाहर खेत में 2 बच्चियों के शव पेड़ से लटके मिले। शवों पर कोई चोट नहीं पाई गई। पोस्टमार्टम के बाद अन्य बातों का पता चलेगा, जांच जारी है।
लखीमपुर खीरी ASP अरुण कुमार सिंह के अनुशार मामले में 4 आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।
लखीमपुर खीरी एसपी संजीव सुमन ने बताया, मामला महिलाओं के खिलाफ और समाज के एक कमजोर वर्ग के खिलाफ है। हमने गति और संवेदनशीलता के साथ काम किया। आरोपियों के खिलाफ IPC की धारा 302, 376 और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके बाद उन्होंने 2 और लड़कों को बुलाकर उनकी मदद से महिलाओं को पेड़ पर लटका दिया। इतनी घटना अभी तक हमारे संज्ञान में आई है। अभी विवरण जांच बाकी है। 4 नामजद के अलावा इसमें मदद करने वाले 2 लोगों को मिलाकर कुल 6 लोग हमारे हिरासत में हैं और उन्हे जेल भेजा जा रहा है।
उन्होंने ने बताया कि, मामलें में एक ज्ञात और तीन अज्ञात लोगों को नामजद किया गया था। पुलिस ने गंभीरता से विवेचना शुरू की। तीनों अज्ञात लोग(जुनैद, सुहैल और हाफिजुर रहमान) आरोपी छोटू जो मृतका का पड़ोसी है, उसके परिचित हैं।
उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि, लखीमपुर की घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। इस दुख की घड़ी में सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। अपराध करने वाला एक भी अपराधी बच नहीं पाएगा। उनके खिलाफ ऐसी कठोरतम कार्रवाई की जाएगी जो एक मिशाल बनेगी।
लखीमपुर खीरी मामले पर राज्य के दूसरे उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा, लखीमपुर की घटना बहुत ही दुखःद है। सरकार ने मामले को गंभीरता से लिया है। सरकार सीधे नज़र बनाए हुए थी। लखीमपुर की घटना का पर्दाफाश हो गया है। आरोपियों ने पहले बच्चियों के साथ दुष्कर्म किया फिर हत्या कर लटका दिया।
उपमुख्यमंत्री ने बताया, इस मामले में सरकार ऐसी कार्रवाई करेगी कि इन अभियुक्तों की आने वाली पीढ़ियों के रूह कांपेंगे। सरकार पीड़ित परिवार के साथ है। हर स्थिति में उन्हें न्याय मिलेगा। मामले को हम फास्टट्रैक कोर्ट में ले जाएगें और शीघ्र से शीघ्र सजा दिलाई जाएगी।
यह मामला बुधवार शाम करीब 5 बजे की है, जब दोनों बेटियां जानवरों के लिए मशीन में चारा काट रही थी, तभी पड़ोसी गांव के 3 लोग सफेद रंग की मोटर साइकिल से वहां आए और दोनो को जबरन बाईक पर बैठाने लगे। लड़कियों की मां ने विरोध किया तब उसे धक्का देकर दूर धकेल दिया। अपहरण के समय लड़कियों के पिता खेत में धान काटने गए थे।
अपहरण के बाद मां ने शोर मचाया तब गांव वालों ने बदमाशों की तालाश शुरू कर दी। करीब पौने दो घंटे बाद घर से करीब 700 मीटर दूर एक खेत में झाड़ियों से लटकती दोनों बेटियों की लाश मिली। एक की उम्र 17 तो दूसरी की उम्र 15 साल बताई गई है। पीड़ित परिवार अनुसूचित जाति से हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.