आयुर्वेद की आत्मा और पवित्रता को बनाये रखना है: डॉ दिलीप मिश्रा

समाचार

मुकेश कुमार मासूम
सोनीपत (हरियाणा)।
आयुर्वेद हमारे देश की प्राचीन परंपरा है, सनातन संस्कृति है। इसकी आत्मा और पवित्रता को बनाये रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। यह कहना है हरियाणा आयुष के लाइसेंस अथॉरिटी डॉ दिलीप मिश्रा का। श्री मिश्रा ने सोनीपत स्थित हर्ष बेकर्स में आयोजित एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए उपरोक्त बातें कहीं।
बतादें कि जिला आयुष एसोसिएशन द्वारा आयुर्वेदिक मेन्युफेक्चर्स का एक सम्मेलन आयोजित किया गया था। इस सम्मेलन में डॉ दिलीप मिश्रा बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित हुए। संस्था के प्रधान राजेन्द्र चौहान व महासचिव निश्चल परुथी, कोषाध्यक्ष यशपाल अरोड़ा ने पुष्प माला पहनाकर डॉ दिलीप मिश्रा व डॉ सतपाल जी का हार्दिक स्वागत किया।
डॉ दिलीप मिश्रा ने सभी से रिकॉर्ड व्यवस्थित करने की अपील की। नये नियम की विस्तृत जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि वे मैन्युफैक्चर की हर संभव, हर समय सहायता करने के लिये तत्पर हैं। लेकिन सभी को नियम – कानून का पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक फैक्ट्री का जनवरी और जुलाई माह में निरीक्षण किया जायेगा। डॉ दिलीप मिश्रा ने कहा कि सभी कार्य पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही सब कार्य ऑनलाइन होने लगेंगे।
इस अवसर पर संस्था के प्रधान राजेन्द्र चौहान व महासचिव निश्चल परुथी, कोषाध्यक्ष यशपाल अरोड़ा,
भारत पासी, जितेंद्र वशिष्ठ, सुनील वशिष्ठ, नरेश शर्मा, दिनेश गोयल, रामकुमार शर्मा, मनोज जैन, मुकेश कुमार मासूम सहित सैकड़ों मेन्युफेक्चर्स व उनके प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.