मनपा का भ्रष्ट अभियंता सैकडों करोड़ की अकूत सम्पत्तियों का मालिक है: भ्रष्टाचार विरोधी मंच

मुंबई

मुंबई। मुंबई मनपा के-पश्चिम वार्ड बिल्डिंग विभाग में कार्यरत करोड़पति दुय्यम अभियंता दीपक शर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने भ्रष्टाचार प्रतिबंध अधिनियम धारा 7 के अन्तर्गत केस दर्ज किया है।

गौरतलब है कि कथित मनपा का भ्रष्ट अधिकारी दीपक शर्मा इसके पहले पी-उत्तर विभाग के बिल्डिंग विभाग में कार्यरत था। जहाँ पर उसने पूर्व भ्रष्ट मनपा सहायक आयुक्त हसनाले, संजोग कबरे और संतोष कुमार धोंडे की मिलीभगत से मालाड पश्चिम में हजारों बड़े-बड़े अवैध निर्माण करवाया जिसमें अनगिनत स्टूडियो, 900 बंगले, हजारों कामर्शियल गाले के साथ-साथ सैकड़ों होटल शामिल है।

भ्रष्टाचार विरोधी मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.बी.सिंह ने बताया कि कथित भ्रष्ट दुय्यम अभियंता पी-उत्तर विभाग में हजारों अवैध निर्माण के जरिये सैकडों करोड़ की कमाई करके अनगिनत अकूत सम्पत्तियों का मालिक है। जिसकी शिकायत जे.बी.सिंह ने कई बार भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो और मनपा के उच्च अधिकारियों से की थी लेकिन उच्च अधिकारियों के कान पर कभी जूं तक नहीं रेगी।

विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक कथित भ्रष्ट दुय्यम अभियंता दीपक शर्मा लगातार करीब 12 साल मनपा पी-उत्तर विभाग के बिल्डिंग फैक्ट्री में काम किया है और वहीं पर अवैध निर्माण की कमाई से मालाड पश्चिम में अपने लिए करोडों रूपये की जगह लेकर कई कामर्शियल गाले, होटल और बंगलों भी बनाया है जिसकी जांच कड़ाई से एसीबी द्वारा होना चाहिए।

विश्वसनीय सूत्रों से मालूम पड़ा है कि उच्च अधिकारियों व एसीबी अधिकारियों को कथित मनपा अधिकारी दीपक शर्मा मोटी रकम पहुंचाया करता था जिसकी वजह से आज तक इसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो सकी थी। अंततःमनपा के -पश्चिम वार्ड में एसीबी का शिकार हो ही गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.