मराठा नेता विनायक मेटे का सड़क दुर्घटना में दुखद निधन, समय पर नहीं मिला इलाज

मुंबई

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
मुंबई।
मराठा नेता व पूर्व विधायक विनायक मेटे (Vinayak Mete) का आज एक सड़क दुर्घटना में निधन हो गया। श्री मेटे मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की एक बैठक में भाग लेने अपने गांव बीड़ से मुंबई आ रहे थे। मुंबई – पुणे एक्सप्रेस पर एक ट्रक के ओवरटेक करने से इनके ड्राइवर ने नियंत्रण खो दिया। इस दुर्घटना में इनकी SUV कार MH 01 DP 6364 के परखच्चे उड़ गए।
दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल विनायक मेटे को नवी मुंबई के कामोठे इलाके में स्थित एमजीएम अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस घटना से महाराष्ट्र की राजनीति में मातम छा गया है। खासकर मराठा समाज पर गहरा असर पड़ा है। विनायक मेटे शिवसंग्राम सेना के प्रमुख भी थे। एनसीपी के समर्थक रहे श्री मेटे 2016 में भाजपा के समर्थन से निर्विरोध विधान परिषद सदस्य निर्वाचित हुए थे।
मिली जानकारी के अनुशार विनायक मेटे दुर्घटना के बाद काफी समय तक सड़क पर ही पड़े रहे। बहुत देर बाद वहां एंबुलेंस, एक्सप्रेस की देखरेख करने वाली कंपनी IRB के नवनाथ गोले और पुलिस वहां पहुंची। पुलिस ने अपनी ओर से जारी बयान में बताया है कि, उसे सुबह 5 बजकर 58 मिनट पर सूचना मिली और घटना स्थल पर 6.05 पर पहुंची। इसके बाद वहां से लगभग 80 किलोमीटर दूर नवी मुंबई के MGM अस्पताल पहुंचाया गया। तब तक समय काफी ज्यादा हो गया था। संभव है कि, समय पर इलाज मिला होता तो महाराष्ट्र के एक प्रखर नेता की जान बचाई जा सकती थी।
दुर्घटना करीब 5 बजे की बताई जा रही है। नियम के मुताबिक मुंबई पुणे एक्सप्रेस की देखरेख करने वाली कंपनी IRB के कर्मचारी हमेशा वहां पेट्रोलिंग करते रहते हैं, फिर भी उन्हें समय पर दुर्घटना की जानकारी क्यों नही मिली?

Leave a Reply

Your email address will not be published.