बंगाल में कंगाल भाजपा नहीं करेगी दुर्गा पूजा

लेख समाचार

अजय भट्टाचार्य
यह
तस्वीर उस समय की है जब दो साल पहले 2020 में बंगाल भाजपा ने ईजेडसीसी में दुर्गा पूजा की शुरुआत की थी। पहली बार प्रधानसेवक नरेंद्र मोदी ने धोती-कुर्ता पहनकर दुर्गा पूजा का वर्चुअली उद्घाटन किया था। दुर्गापूजा के बहाने हिंदुत्व की सवारी कर भाजपा ने विधानसभा चुनाव जीतने का फार्मूला तैयार किया मगर सफल नहीं हो सकी। अब बंगाल भाजपा की दुर्गा भक्ति का खुमार उतर गया है और पार्टी अगले साल से दुर्गा पूजा का आयोजन नहीं करेगी। वित्तीय संकट पूजा को जारी नहीं रखने का कारण है। पार्टी में आतंरिक तौर पर बहस चल रही है कि क्या राजनीतिक दल को दुर्गा पूजा का आयोजन करना चाहिए और साथ ही इस पर भी चर्चा चल रही है कि पार्टी को क्या अब खुद को राज्य में ‘बंगाली संस्कृति’ के प्रति सम्मान करने वाली पार्टी के रूप में साबित करने की जरूरत है, जिसे सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस पार्टी ‘बाहरी’ करार देती थी। भाजपा द्वारा आखिरी दुर्गा पूजा आयोजन को यादगार बनाने के लिए 28 वर्षीय गैर ब्राह्मण सुजाता मंडल को दुर्गा पूजा करने के लिए चुना गया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने पूजा पंडाल का उद्घाटन किया, जबकि पहले खबर थी कि अमित शाह उद्घाटन करेंगे। पूजा के बीच पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के भी आने की संभावना थी। मगर वे भी नहीं आये।
अब तक कहा जा रहा था कि भाजपा की दुर्गा पूजा का उद्घाटन करने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल आयेंगे। हालांकि दिल्ली से कोई ग्रीन सिग्नल नहीं मिलने पर कहा गया कि अष्टमी के दिन शाह बंगाल आ सकते हैं। अब यह संभावना भी नहीं जतायी जा रही है। शुक्रवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि विशेष कार्य से अमित शाह अष्टमी के दिन भी नहीं आ पायेंगे। ऐसे में यह स्पष्ट है कि वह दुर्गा पूजा में इस बार कोलकाता नहीं आयेंगे। ऐसे में भाजपा कार्यकर्ताओं में निराशा है। संतोष मित्रा स्क्वायर समेत साल्टलेक में भाजपा की पूजा व साल्टलेक की ही एक और पूजा का उद्घाटन करने की उनकी बात थी। कुछ दिनों पहले सुकांत मजूमदार ने कहा था कि उद्घाटन नहीं, अष्टमी के दिन शाह आ सकते हैं। पूजा के बीच पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के भी आने की संभावना थी। इसमें अमित शाह व जेपी नड्डा में किसी के आने की संभावना थी, लेकिन अब यह स्पष्ट हो गया कि इनमें से कोई नहीं आ पा रहा है। भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई ने वर्ष 2021 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव से पहले वर्ष 2020 में कोलकाता स्थित पूर्वी क्षेत्रीय सांस्कृतिक केंद्र (ईजेडसीसी) में दुर्गा पूजा का आयोजन किया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑनलाइन उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित किया था। पिछले साल दूसरी बार पार्टी की ओर से दुर्गा पूजा का आयोजन किया गया था। मजूमदार ने कहा कि अनुष्ठान के मुताबिक दुर्गा पूजा का आयोजन कम से कम तीन साल लगातार करना होता है। इसलिए यह हमारी आखिरी दुर्गा पूजा है और वित्तीय संकट की वजह से अगले साल से हम इसका आयोजन नहीं करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.