डाकघर बचत योजनाएँ हुई और हाई-टेक: अब ई-पासबुक से पाएं मिनी स्टेटमेंट और बैलेंस

उत्तर प्रदेश समाचार

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
वाराणसी।
डाक विभाग ने अपने खाताधारकों के लिए ई-पासबुक सेवा की शुरुआत की है। ई-पासबुक सेवा का उपयोग कर जहाँ डाकघर की विभिन्न लघु बचत योजनाओं – बचत बैंक, आवर्ती जमा (आर.डी), सावधि जमा (टी.डी.), सुकन्या समृद्धि खाता (एस.एस.ए.), मासिक आय योजना (एम.आई.एस), लोक भविष्य निधि खाता (पी.पी.एफ), एन.एस.सी और के.वी.पी के खाताधारक अपने खातों के बैलेंस जान सकेंगे वही एस.बी.,सुकन्या व पी.पी.एफ खातों के मिनी स्टेटमेंट भी ऑनलाइन नि:शुल्क प्राप्त कर सकेंगे I मिनी स्टेटमेंट में अंतिम 10 लेन-देन की पूरी जानकारी होगी। उक्त जानकारी देते हुए वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि अब नेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग का प्रयोग किये बिना ही खाताधारक अपने खाते की जानकारी कभी भी प्राप्त कर सकेंगे। इस सेवा का लाभ लेने के लिए खाते में मोबाइल नंबर लिंक होना अनिवार्य है।

पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि नवाचार और नवीनतम टेक्नोलॉजी को अपनाकर डाक विभाग अपनी सेवाओं को निरंतर हाई-टेक और कस्टमर फ्रेंडली बना रहा है। ई-पासबुक सेवा के लिए किसी भी प्रकार के पंजीकरण या आई.डी/पासवर्ड की आवश्यकता नहीं है। यह डाकघर में होने वाले निवेश को और भी ज्यादा सुरक्षित करने की ओर एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे फ्राड संबंधी गतिविधियों को भी रोका जा सकता है।

ई-पासबुक की प्रक्रिया

पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि ई-पासबुक की सुविधा के लिए डाक विभाग की वेबसाइट www.indiapost.gov.in या इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की वेबसाइट www.ippbonline.com पर दिए गए ई-पासबुक लिंक पर क्लिक करना होगा अथवा यू.आर.एल. https://posbseva.ippbonline.com/indiapost/signin का प्रयोग कर सीधे ई-पासबुक की वेबसाइट तक पहुँचा जा सकता है। लिंक खुलने के बाद खाताधारक को निर्दिष्ट कॉलम में पंजीकृत मोबाइल नंबर डालना होगा I कैप्चा दर्ज करके लॉगिन करते ही मोबाइल पर ओ.टी.पी आएगा I इसे दर्ज करने के बाद बचत योजना का चयन कर खाता संख्या दर्ज करनी होगी और पुनः मोबाइल पर प्राप्त ओ.टी.पी डालना होगा। इसके बाद बैलेंस पूछताछ व मिनी स्टेटमेंट के विकल्प का चयन करते ही विवरण उपलब्ध हो जाएगा I मिनी स्टेटमेंट को पी.डी.एफ फॉर्मेट में डाउनलोड करने की सुविधा भी दी गयी है।

श्री यादव ने आगे बताया कि ई-पासबुक सेवा, डिजिटल बैंकिंग को नई दिशा प्रदान करेगी। खाते के बैलेंस व जमा-निकासी की जानकारी हेतु खाताधारकों को अब डाकघर नही आना पड़ेगा और वह घर बैठे आसानी से मिनी स्टेटमेंट व बैलेंस की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकेंगेI इस सुविधा से वाराणसी परिक्षेत्र के 29.16 लाख खाताधारक लाभान्वित होंगे जिसमें वाराणसी पूर्वी मंडल के 4.17 लाख, वाराणसी पश्चिमी मंडल के 7.84 लाख, बलिया के 6.14 लाख, गाजीपुर के 4.09 लाख व जौनपुर के 6.92 खाताधारक शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.