डाक विभाग का 31 मार्च तक विशेष सीईएलसी अभियान : घर बैठे 5 साल तक के बच्चों का आधार बनवाएं और मोबाइल अपडेशन की सुविधा

उत्तर प्रदेश समाचार

सी.ई.एल.सी अभियान के तहत सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले डाकियों को स्कूटी, स्मार्ट टीवी, लैपटॉप, स्मार्ट फोन, वाशिंग मशीन, फ्रिज से लेकर पावर बैंक तक का पुरस्कार

वाराणसी परिक्षेत्र के अधीन जौनपुर की ब्रांच पोस्टमास्टर निशा चौधरी ने सी.ई.एल.सी अभियान में पूरे उत्तर प्रदेश में प्राप्त किया प्रथम स्थान

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
वाराणसी।
उत्तर प्रदेश में घर बैठे 5 साल तक के बच्चों का आधार बनवाने और लोगों के मोबाइल को आधार से लिंक कराने हेतु डाक विभाग ने विशेष पहल की है। इसके तहत जहाँ घर बैठे ग्रामीण डाक सेवक व पोस्टमैन लोगों को सुविधा उपलब्ध करा रहे हैं, वहीं इन्हें प्रोत्साहित करने हेतु विभाग स्कूटी से लेकर स्मार्ट टीवी, लैपटॉप, स्मार्ट फोन, वाशिंग मशीन, रेफ्रीजिरेटर, माइक्रोवेव, इंडक्शन कुक टॉप, स्टीम आयरन, टोस्टर,पावर बैंक, ब्लू टूथ ईयरफोन तक पुरस्कार में दे रहा है। पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव के निर्देश पर यह अभियान वाराणसी परिक्षेत्र के सभी जनपदों में 31 मार्च तक चलाया जाएगा। अब तक सी.ई.एल.सी के माध्यम से वाराणसी परिक्षेत्र में पोस्टमैनों द्वारा 5 लाख 25 हजार से ज्यादा लोगों के आधार में मोबाईल नंबर का संशोधन और बच्चों का आधार बनाया जा चुका है। इस कड़ी में वाराणसी परिक्षेत्र के अधीन जौनपुर जनपद के उदपुर घेलहावा डाकघर की ब्रांच पोस्टमास्टर श्रीमती निशा चौधरी ने पूरे उत्तर प्रदेश में सर्वप्रथम 5000 लोगों को घर बैठे सेवा देकर कीर्तिमान बनाया है। उनकी इस उपलब्धि पर पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने भी बधाई दी।डाक विभाग के इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक द्वारा पुरस्कार स्वरूप एक स्कूटी भी प्रदान की जाएगी।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग ने आमजन की सुविधाओं के लिए तमाम सेवाओं का विस्तार किया है। डाकघरों में नया आधार बनाने और आधार में अपडेशन की सुविधा उपलब्ध है, जिसका आमजन को काफी फायदा होता है। इसी क्रम में डाक विभाग ने इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से अब सी.ई.एल.सी (चाइल्ड एनरोलमेंट लाइट क्लाइंट) सेवा आरम्भ की है, जिसमें घर बैठे डाकिया के माध्यम से 5 साल से कम उम्र के बच्चों का नया आधार बन सकेगा और लोग अपने आधार में मोबाइल नंबर अपडेशन भी करा सकेंगे।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इसके अंतर्गत मोबाइल एप के माध्यम से 5 साल से कम उम्र के बच्चों का नया आधार बनवाने हेतु आधार नामांकन केवल संबंध प्रमाण पत्र (पीओआर) की सहायता से किया जा सकता है। इस हेतु माता-पिता अपने आधार या अन्य किसी मान्य पहचान पत्र की सहायता से अपने बच्चे का आधार पंजीकरण घर बैठे डाकिया के माध्यम से निःशुल्क करा सकते हैं। डाकिया वहीं पर आईपीपीबी मोबाइल हैंडसेट में इंस्टॉल सी.ई.एल.सी एप के माध्यम से बच्चे की फोटो लेकर पंजीकरण की प्रक्रिया पूर्ण करेगा। पंजीकरण पश्चात डाकिया एनरोलमेंट आई.डी (EID) उपलब्ध कराएगा, जिसके माध्यम से आधार बन जाने पर यू.आई.डी.ए.आई की वेबसाइट पर जाकर बच्चे का आधार कार्ड डाउनलोड भी किया जा सकेगा।

पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि अब आधार में मोबाइल नंबर अपडेशन के लिए कहीं भी जाने की जरुरत नहीं है, बल्कि घर बैठे ही डाकिया के माध्यम से सीईएलसी सेवा के तहत मात्र 50 रूपये (कर सहित) का निर्धारित शुल्क देकर आधार में मोबाइल नंबर अपडेशन आसानी से कराया जा सकता है। इस योजना के प्रचार प्रसार एवं डाकियों को प्रोत्साहित करने हेतु पुरस्कार भी दिए जाएँगे।
वाराणसी परिक्षेत्र में सी.ई.एल.सी के तहत वाराणसी में 1 लाख 5 हजार, जौनपुर जिले में 1 लाख 65 हजार, बलिया में 1 लाख 30 हजार, गाजीपुर में 45 हजार, चन्दौली में 42 हजार तथा भदोही में 38 हजार से ज्यादा लोगों के आधार में मोबाईल नंबर अपडेशन व बच्चों का नया आधार कार्ड बनाया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.