Punjab Election: पंजाब में ‘आप’ का मान पर दांव

राजनीति लेख

अजय भट्टाचार्य
पंजाब
में आम आदमी पार्टी संगरूर से अपने लोकसभा सांसद भगवंत मान को बतौर भावी मुख्यमंत्री पेश कर चुनाव में उतर सकती है। हालाँकि राज्य में अभी तक किसी भी पार्टी ने मुख्यमंत्री के चेहरे का ऐलान नहीं किया है। पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी पूरे दम खम से मैदान में है। राज्य में अभी किसी भी पार्टी की तरफ से सीएम चेहरे को लेकर कोई सीधी घोषणा नहीं की गई है। लेकिन पंजाब की राजनीति में अपनी ग्रैंड मौजूदगी दर्ज कराने की कवायद में जुटी आप ऐसी पहली पार्टी हो सकती है जो सूबे में मुख्यमंत्री चेहरे का ऐलान करने वाली है। पंजाब के समाचार माध्यमों की रिपोर्ट्स के अनुसार पंजाब में भगवंत मान आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।
सूत्रों के हवाले से खबर है कि आप की राजनीतिक मामलों की समिति की बैठक में यह फैसला हुआ है कि पंजाब में भगवंत मान के चेहरे को सामने रख पार्टी चुनावी मैदान में उतरेगी। आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने भी भगवंत मान के नाम पर मुहर लगा दी है। केजरीवाल के कोरोना पॉजिटव आने की वजह से नाम के ऐलान में देरी की गई। अरविंद केजरीवाल का पंजाब आने का और फिर एक ग्रैंड इवेंट के जरिये भगवंत मान के नाम का ऐलान करने वाले थे। हालांकि पंजाब की आप की मीडिया ईकाई पूरे मामले में चुप्पी साध रखी है और उनका कहना है कि जो भी फैसला होगा वो पार्टी आलाकमान ही तय करेगा।

अरविंद केजरीवाल के साथ ही पीएसी के तमाम नेता, राघव चड्डा और जरनैल सिंह जैसे सह प्रभारी और लगातार पंजाब में कैंपेन कर रहे मनीष सिसोदिया जैसे नेताओं को लगता है कि पंजाब की राजनीति में अभी भगवंत नाम ही एक बड़ा नाम है, जिसके चेहरे को आगे रखकर चुनाव लड़ा जा सकता है। मान पंजाब के संगरूर से लगातार दो बार जीतकर संसद पहुंचे हैं। राजनीति में आने से पहले भगवंत मान लोकप्रिय हास्त कलाकार रह चुके हैं।
उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत मनप्रीत बादल की पंजाब पीपल्स पार्टी से की थी लेकिन बाद में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गये।
इस बीच आम आदमी पार्टी (आप) ने पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए अपने पांच और उम्मीदवारों की घोषणा की। पार्टी की ओर से उम्मीदवारों की यह सातवीं सूची जारी की गई है, जिसके अनुसार मजीठा विधानसभा सीट से लाली मजीठिया को टिकट दिया गया है। मजीठिया कांग्रेस पार्टी छोड़ने के बाद एक जनवरी को ‘आप’ में शामिल हो गए थे। वर्तमान में, मजीठा सीट से अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया विधायक हैं। इसके अलावा अजय गुप्ता को अमृतसर सेंट्रल सीट से, कश्मीर सिंह सोहल को तरनतारन से, सुरिंदर सिंह सोढ़ी को जालंधर कैंट से और बलजीत कौर को मलोट सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। पंजाब की 117 विधानसभा सीटों में से ‘आप’ ने अभी तक 101 पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है।

इसके साथ ही दिल्‍ली में सत्तारूढ़ आप सरकार ने पंजाब के मतदाताओं को रिझाने के लिए बड़ा फैसला लिया है। आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा में मनोनीत सदस्‍यों की संख्‍या को बढ़ाने का फैसला किया है। इस संबंध में दिल्‍ली व‍िधानसभा में गुरुद्वारा चुनाव मंत्री राजेन्‍द्रपाल गौतम ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा (संशोधन) विधेयक 2022 पेश किया है जिसमें मनोनीत सदस्यों की सूची में एक और सदस्य जोड़ने के लिए प्रस्‍ताव किया गयाहै। इसके बाद अब 9 सदस्यों की जगह 10 सदस्य हो सकेंगे। गौतम ने विधेयक पेश करते हुए सदन को बताया कि इस संशोधन के जरिए डीएसजीएमसी के मनोनीत सदस्यों के रूप में श्री अकाल तख्तों के मौजूदा चार प्रधान पुजारियों की सूची में एक और प्रधान पुजारी श्री अकाल तख्त, दमदमा साहिब तलवंडी साबो भटिंडा, पंजाब को जोड़ा गया है।
(लेखक देश के जाने माने पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.