Punjab election 2022: पंजाब में चार महिला उम्मीदवारों की चर्चा

लेख समाचार

अजय भट्टाचार्य
पंजाब
विधानसभा चुनावों में सभी राजनीतिक दलों के दिग्गज चेहरे सड़कों पर वोट मांग रहे हैं। इस सबके बीच पंजाब की चार सीटों मलोट, मलेरकोटला, मोगा और मुक्तसर सीटों पर पुरुषों से ज्यादा महिला प्रत्याशियों की चर्चा हो रही है। चर्चा के पीछे की बड़ी वजह यह है कि ये महिला प्रत्याशी पुरुषों से अधिक शिक्षित होने के साथ ही धनबल में भी आगे हैं। इन सीटों पर महिला बनाम महिला के बीच कड़ा मुकाबला माना जा रहा है। सभी चार विधानसभा सीटों पर कांग्रेस ने महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। आम आदमी पार्टी ने चार में से दो निर्वाचन क्षेत्रों से महिला प्रत्याशियों को टिकट दिया है। किसान संगठनों के राजनीतिक दल संयुक्त समाज मोर्चा और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की पंजाब लोक कांग्रेस ने भी एक-एक महिला प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारा है। इन चारों विधानसभा सीटों पर महिला बनाम महिला का मुकाबला काफी रोचक है।
मलोट विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस और आप आमने-सामने हैं। कांग्रेस ने यहां से आप की बागी रुपिंदर कौर रूबी को मैदान में उतारा है। आप ने पूर्व सांसद प्रोफेसर साधु सिंह की बेटी डॉ. बलजीत कौर को टिकट दिया है। यह मुकाबला चुनाव में बेहद रोमांचक माना जा रहा है। मलेरकोटला में दो पूर्व पुलिस महानिदेशकों की पत्नियों में सीधी लड़ाई है। कांग्रेस ने पूर्व डीजीपी मोहम्मद मुस्तफा की पत्नी और मौजूदा सरकार में मंत्री रजिया सुल्ताना को टिकट मिला है। जबकि इनके मुकाबले पंजाब लोक कांग्रेस ने पूर्व डीजीपी मोहम्मद इजहार आलम की पत्नी फरजाना आलम को टिकट दिया है। ये दोनों महिला प्रत्याशी पारंपरिक प्रतिद्वंद्वी मानी जाती हैं। सुल्ताना इस सीट से तीन बार और फरजाना आलम एक बार जीत चुकी हैं। मोगा सीट का चुनावी मुकाबला अभिनेता सोनू सूद की बहन मालविका के चुनाव मैदान में उतरने के बाद बेहद रोचक हो गया है। कांग्रेस ने मालविका सूद सच्चर को मोगा से उतारा है। वहीं आप ने डॉ. अमनदीप कौर अरोड़ा को मालविका के सामने चुनावी मैदान में उतारा है। दोनों के बीच कड़ी टक्कर मानी जा रही है। मुक्तसर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस और खेती किसानी से सियासत में आए किसानों के बीच सीधी टक्कर है। कांग्रेस ने पूर्व विधायक करण कौर बराड़ को प्रत्याशी बनाया है। संयुक्त समाज मोर्चा ने अनुरूप कौर को टिकट दिया है। करण कौर बराड़ पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हरचरण सिंह बराड़ की पुत्रवधू हैं। अनुरूप कौर ने चुनाव के लिए दिल्ली से पंजाब का रुख किया है। वह डीयू के एसजीटीबी खालसा कॉलेज में सहायक प्रोफेसर के रूप में काम कर चुकी हैं।
(लेखक देश के जाने माने पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक हैं।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.