बुलढाणा में राहुल गांधी किसानों को दे रहे थे श्रद्धांजलि तभी होने लगी आतिशबाजी, कांग्रेस नाराज

मुंबई

मुंबई। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राष्ट्रगान की जगह नेपाली सॉन्ग बजाए जाने का मुद्दा अभी चल ही रहा था कि, बुलढाणा में एक और शरारत से राहुल गांधी को आहत होना पड़ा। बुलढाणा की एक सभा में आत्महत्या करने वाले किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए राहुल सहित जैसे ही तमाम नेता खड़े हुए उसी समय सभा स्थल से कुछ दूरी पर पटाखे फोड़े जाने लगे। राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से तुरंत बंद करने के लिए कहा, इसके बावजूद पटाखों के फूटने की आवाज आती रही। राहुल गांधी ने इसे किसानों का अपमान बताया है।
इस बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले समेत राज्य कांग्रेस के अहम नेता मौजूद थे। बैठक के दौरान राहुल गांधी कृषि कानूनों के विरोध में शहीद हुए किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए मंच पर खड़े हुए थे। जहां एक ओर कांग्रेस नेता किसानों को श्रद्धांजलि स्वरूप दो मिनट तक मौन खड़े रहे, वहीं दूसरी ओर सभा से कुछ दूरी पर पटाखे फोड़े गए। अज्ञात लोगों की इस हरकत से कांग्रेस नाराज हो गई।
पटाखों की आवाज पर आपत्ति जताते हुए राहुल गांधी ने अन्य कांग्रेस नेताओं से कहा कि वे पटाखे न फोड़ने का आह्वान करें। इसके बाद भी आतिशबाजी जारी रही। कांग्रेस ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। कांग्रेस ने यह भी मांग की कि पटाखे फोड़ने का शरारतपूर्ण कार्य करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।
ज्ञात हो राहुल गांधी की जनसभा को काले झंडे दिखाने की भी कोशिश की गई थी। अब पटाखे फोड़े जा रहे हैं। एक कांग्रेस नेता ने पटाखे फोड़ने की घटना की निंदा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.