Rajsthan politics: मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर बढ़ता तनाव, सचिन पायलट बनेंगे CM?

राजनीति समाचार

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री की लेकर कांग्रेस की भीतरी राजनीति गर्म हो गई है। अशोक गहलोत चाहते हैं कि, राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ मुख्यमंत्री पद पर भी बने रहें। दूसरी ओर पार्टी की एक व्यक्ति एक पद के नियम को देखते हुए यह संभव नहीं है कि, दोनो पद पर अशोक गहलोत एक साथ बने रहें।
राजस्थान के मंत्री अशोक चंदना ने सीएलपी से पहले हुई बैठक में एआईसीसी पर्यवेक्षकों के नाराज होने की बात करते हुए कहा कि ‘कई लोगों ने (इस्तीफा) पत्र पर खुशी-खुशी हस्ताक्षर किए।’ “यह पर्यवेक्षकों से पूछा जाना चाहिए, हम देखेंगे कि वे कब कार्रवाई करेंगे। हम डर नहीं सकते। मैंने पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं और कई ने इसे खुशी से किया है। पत्र सार्वजनिक डोमेन में क्यों आना चाहिए,”
सियासी हंगामे के बीच कांग्रेस नेता कमलनाथ पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के दिल्ली स्थित आवास पर बैठक करने पहुंचे। इस बारे में पूछे जाने पर कमलनाथ ने कहा, ‘वह केवल नवरात्रि की कामना के लिए वहां गए थे।’ उन्होंने कहा, मुझे (कांग्रेस) अध्यक्ष पद में कोई दिलचस्पी नहीं है, केवल नवरात्रि की शुभकामनाओं के लिए गया था।
अजय माकन ने कहा,”102 गहलोत के वफादारों ने हमसे कहा था कि उनमें से किसी को सीएम बनाया जाना चाहिए। हमने उनसे कहा कि उनकी राय पार्टी प्रमुख के सामने पेश की जाएगी और पारित प्रस्तावों से कोई शर्त नहीं जुड़ी है, पार्टी प्रमुख विचार-विमर्श के बाद फैसला करते हैं।” दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद।
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद अजय माकन ने कहा, “मल्लिकार्जुन खड़गे और मैंने राजस्थान में हमारी बैठकों के बारे में विस्तार से कांग्रेस अध्यक्ष को जानकारी दे दी है। उन्होंने हमसे एक लिखित रिपोर्ट मांगी। हम उन्हें आज रात या कल तक दे देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.