Ravish Kumar: NDTV को Adani group ने खरीदा, क्या इस्तीफा देंगे रवीश कुमार

समाचार

विजय यादव
NDTV
के 29.18 प्रतिशत शेयर अडानी ग्रुप ने खरीद लिया है। इसके अलावा 26% को बाजार में बिकने के लिए डाल दिया गया है। मतलब ये कि कुल 54% शेयर अब एनडीटीवी के हाथ से निकलकर दूसरी कंपनियों के पास जा रहे हैं। इस तरह अब प्रणब राय का कब्जा खत्म हो रहा है। इस 26 प्रतिशत ओपन शेयर को भी अडानी ग्रुप के द्वारा ही खरीदे जाने का कयास लगाया जा रहा है।
ऐसे में इस बात की भी सर्वत्र जोरदार चर्चा है कि, अब रवीश कुमार का क्या होगा? सोशल मीडिया के माध्यम से कुछ लोगों ने अपनी जानकारी को साझा करते हुए लिखा है कि, रवीश कुमार ने एनडीटीवी से इस्तीफा दे दिया है। कोई कहता है कि, Zee news ज्वाइन कर सकते हैं। हालांकि खबर लिखे जाने तक रवीश कुमार की ओर से इस बारे में कोई बयान नहीं आया है। हां यह सच है कि, अडानी समूह एकाधिकार होने के बाद रवीश कुमार को खबरों को लेकर पहले की तरह स्वतंत्रता नहीं होगी।
पत्रकारिता से जुड़े कुछ पुराने लोगों का मानना है कि, रवीश जी न्यूज में जाने से बचेंगे। क्योंकि वहां जिस विचारधारा को लेकर पत्रकारिता की जा रही है, वह रवीश कुमार के विचारों से भिन्न है। अभिसार शर्मा, अजीत अंजूम, पुण्य प्रसून बाजपेई जैसे तमाम पत्रकारों की तरह उन्हें भी स्वतंत्र मीडिया का रास्ता अख्तियार करते हुए YouTube प्लेटफार्म पर आ जाना चाहिए।
रवीश कुमार का एनडीटीवी पर प्राइम टाइम, रवीश की रिपोर्ट, हम लोग और बहुत कुछ का नेतृत्व किया है। इसमें prime time काफी पसंदीदा प्रोग्राम है।
दिल्ली विश्वविद्यालय और आईआईएमसी के पूर्व छात्र, कुमार 15 वर्षों से अधिक समय से एनडीटीवी के साथ हैं और उन्होंने अपनी पत्रकारिता के लिए कई पुरस्कार जीते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.