संसद में चीन को लेकर विपक्षी दलों का हंगामा, सोनिया गांधी बोलीं, सरकार जिद पर अड़ी है

समाचार

नई दिल्ली। चीन सीमा विवाद के मुद्दे पर चर्चा की मांग को लेकर देश के 12 विपक्षी दलों के नेता संसद भवन परिसर में प्रदर्शन किया। यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी के नेतृत्व में विपक्षी सांसद गांधी प्रतिमा के सामने धरना दिया। विपक्षी सांसदों के हाथों में तख्तियां थी, जिसमें लिखा था कि, झूठ बोलना बंद करो और चीन को कड़ा जवाब दो।
इस दौरान सोनिया गांधी ने कहा कि जनता और संसद को सीमा पर वास्तविक स्थिति का पता नहीं लग पा रहा है। यूपीए चेयरपर्सन ने मोदी सरकार पर भी हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार अपनी जिद पर अड़ी है और संसद में चीन के अतिक्रमण पर चर्चा नहीं करवा रही है। उन्होंने पूछा कि सरकार इस पर जवाब क्यों नहीं दे रही है। सोनिया गांधी ने कहा कि संसद में चीन पर चर्चा न कराना लोकतंत्र का अनादर है।
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि तवांग झड़प मामले में प्रधानमंत्री को अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए। हम चाहते हैं कि इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री संसद में आकर जवाब दें। कांग्रेस के सीनियर सांसद शशि थरूर ने कहा कि हम सेना की आलोचना नहीं कर रहे हैं। हम सेना के साथ हैं, लेकिन सवाल देश की पॉलीटिकल लीडरशिप के बारे में है। हम बस इतना चाहते हैं कि सरकार बॉर्डर की स्थिति पर चर्चा करके देश के लोगों के भरोसे में ले।

कांग्रेस अध्यक्ष और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने चीन पर चर्चा की मांग को लेकर समान विचारधारा वाले 12 विपक्षी दलों को बुलाया था। खड़गे के आमंत्रण पर सभी दलों के नेता गांधी प्रतिमा के सामने एकत्र हुए और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.