“शिंदे गुट राजनीतिक दल नहीं, ठाकरे गुट असली शिवसेना है”

मुंबई समाचार

Maharashtra political news: उद्धव ठाकरे की शिवसेना ही असली शिवसेना है। यह दलील उद्धव ठाकरे के वकील देवदत्त कामत ने चुनाव आयोग के सामने रखी है। शिंदे गुट द्वारा आयोजित प्रतिनिधि सभा असंवैधानिक है। असली प्रतिनिधि सभा को कैसे भंग किया जा सकता है? ऐसा सवाल ठाकरे गुट के वकील देवदत्त कामत ने किया है। इतना ही नहीं, ठाकरे के वकील देवदत्त कामत ने यह भी तर्क दिया कि शिंदे गुट राजनीतिक दल है ही नहीं। कामत ने यह भी कहा कि ठाकरे गुट ही असली शिवसेना है। इस मुद्दे पर कपिल सिब्बल ने एक घंटे तक बहस की। इसके बाद देवदत्त कामत ने अपनी दलील चुनाव आयोग के सामने रखी।
शिवसेना किसकी? धनुष्यबाण पर किसका अधिकार? इसपर 10 तारीख के बाद से यह तीसरी सुनवाई है। पहली बहस 10 तारीख को हुई थी। उसके बाद 17 तारीख को हुआ और फिर आज (शुक्रवार) बहस हुई।
ठाकरे गुट ने शिंदे गुट पर कड़ी आपत्ति जताई। देवदत्त कामत ने यह भी कहा कि शिंदे समूह द्वारा नियुक्त कार्यकारिणी अवैध है। देवदत्त कामत ने पुरजोर दलील दी कि मूल प्रतिनिधि सभा को भंग नहीं किया जा सकता।
उद्धव ठाकरे ने बालासाहेब ठाकरे की मृत्यु के बाद शिवसेना पार्टी के प्रमुख पद पर हैं।
ठाकरे गुट की प्रवक्ता मनीषा कयांडे ने कहा कि चुनाव आयोग मेरिट पर विचार करेगा तो फैसला हमारे पक्ष में होगा। क्योंकि शिवसेना का इतिहास, परंपरा और विरासत हमारे साथ है। मनीषा कायंडे ने कहा है कि उन्हें विश्वास है कि फैसला हमारे पक्ष में होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.