शिवसेना सावरकर पर राहुल गांधी के उठाए गए स्टैंड से सहमत नहीं

मुंबई

मुंबई। वीर सावरकर पर राहुल गांधी के बयान को लेकर पिछले दो दिनों से राजनीतिक विवाद चल रहा है। भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि सावरकर ने अंग्रेजों से माफी मांगी थी और अंग्रेजों से पेंशन ले रहे थे। इस बयान के बाद कांग्रेस और शिवसेना (ठाकरे गुट) बीजेपी के निशाने पर आ गई है। कुछ दिनों पहले आदित्य ठाकरे ने भी राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा में हिस्सा लिया था। इसको लेकर भी आदित्य ठाकरे बीजेपी के निशाने पर थे। इस संबंध में आदित्य ठाकरे ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी स्थिति स्पष्ट की है।
राहुल गांधी के नेतृत्व में चल रही भारत जोड़ो यात्रा के हिंगोली में एक सभा में बोलते हुए स्वतंत्रता सेनानी सावरकर के बारे में राहुल गांधी के बयान पर राजनीतिक विवाद खड़ा कर दिया है। सावरकर ने अंग्रेजों से माफी मांगी। साथ ही राहुल गांधी ने कहा था कि उन्होंने अंग्रेजों से पेंशन ली थी।
भाजपा और मनसे इसे स्वतंत्रता सेनानी सावरकर का अपमान बताकर इसकी आलोचना कर रही है। इस पृष्ठभूमि में जहां राहुल गांधी की आलोचना हो रही है, वहीं आदित्य ठाकरे भी भारत जोड़ो यात्रा में अपनी मौजूदगी को लेकर आलोचनाओं के केंद्र में आ गए थे।
इसी बीच आदित्य ठाकरे ने इन तमाम विवादों पर प्रतिक्रिया दी है। पत्रकारों द्वारा इस संबंध में पूछे जाने पर आदित्य ठाकरे ने राजनीतिक दलों से मौजूदा हालात पर लड़ने की अपील की। उन्होंने कहा उद्धव ठाकरे और संजय राउत ने इस संबंध में अपनी स्थिति स्पष्ट रूप से बताई है। मैं भी उनकी स्थिति से सहमत हूं। लेकिन राष्ट्रीय दलों को वर्तमान यथास्थिति के लिए भी संघर्ष करना चाहिए। अगर हम सभी इस बात पर लड़ना शुरू कर दें कि 50 साल पहले या 100 साल पहले कौन सही था और कौन गलत, तो भविष्य के लिए कौन लड़ेगा और यथास्थिति के लिए कौन लड़ेगा? यह कहना है आदित्य ठाकरे का।
इस बीच इस संबंध में मीडिया से बात करते हुए संजय राउत ने ठाकरे गुट की भूमिका के बारे में बताया। उद्धव ठाकरे ने भी इस पर शिवसेना की स्थिति स्पष्ट की है। स्वतंत्रता सेनानी सावरकर के लिए हम सभी के मन में बहुत सम्मान और प्रेम है। इसलिए हम इस संबंध में राहुल गांधी द्वारा उठाए गए स्टैंड से सहमत नहीं हैं। सावरकर का विषय कहाँ से आया जब यह मुद्दा भारत जोड़ो यात्रा के एजेंडे में नहीं था? यह सवाल संजय राउत ने भी उठाया है। आदित्य ठाकरे ने भी आज इस सिलसिले में अपना पक्ष रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.