नेत्रहीन, दिव्यांगों संग सुनील प्रभु ने मनाई दिवाली

मुंबई

विजय यादव
मुंबई।
वह इस खूबसूरत दुनिया को देख नही सकते… जिनके लिए हर दिन-रात काली रात जैसी हो… जो इन खूबसूरत दुनिया को देख नही सकता, ऐसे नेत्रहीन दिव्यांग को एक सुंदर अहसास के साथ उनकी मन की आंखों से खुशियों का अहसास कराना एक उमंग भरा कौतूहल ही कहलाएगा। इस जिज्ञासा और चाहत को दीपावली के अवसर पर अपने स्नेह और प्रेम की आंखें दी दिंडोशी विधानसभा के लोकप्रिय विधायक सुनील प्रभु ने।
मालाड पूर्व के अप्पापाड़ा में दिवाली के अवसर पर संघर्ष क्रीड़ा मंडल व नव अरुणोदय सेवा मंडल की ओर से दीपावली स्नेह उत्सव का आयोजन किया गया था, जिसमे अनुभवी कलाकारों ने भक्तिगीत, भावगीत, कोलीगीत व लावणी समेत तमाम सदाबहार एवं सांस्कृतिक सुर संगम प्रस्तुत किए। इस अवसर पर नेत्रहीन दिव्यांग और कलाकारों का मान सम्मान बढ़ाने के लिए शिवसेना विधायक सुनील प्रभु स्वयं उपस्थित रहे।
दिवाली का त्योहार खुशी, उत्साह और मिठास का त्योहार माना जाता है। लेकिन नेत्रहीन दिव्यांग वास्तव में ऐसे त्योहारों का आनंद नहीं ले सकते। इसी पृष्ठभूमि में कुरार विलेज के अप्पापाड़ा प्रथमेश नगर में ‘तेज प्रभात’ नामक उत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। आयोजन का यह छठा वर्ष था। शिवसेना विधायक सुनील प्रभु ने भी हर साल की तरह इस वर्ष भी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए विशेष समय निकाला।
कलाकारों को प्रोत्साहित किया गया। नेत्रहीन भाइयों ने कार्यक्रम में प्रेम और स्नेह के लिए शिवसेना को धन्यवाद दिया। इस मौके पर बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक भी मौजूद थे।
कार्यक्रम में मौजूद विधायक सुनील प्रभु को प्रथमेश कोऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी के कोषाध्यक्ष सुभाष चव्हाण ने सम्मानित किया। इस मौके पर संगठन के अध्यक्ष तानाजी महाडिक, पूर्व डिप्टी मेयर एडवोकेट सुहास वाडकर, पूर्व नगरसेवक आत्माराम चाचे, विभाग के आयोजक विष्णु सावंत, पूर्व शाखा प्रमुख प्रमोद पलांडे, प्रदीप निकम आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.