संसद में शहीदों को श्रद्धांजलि, सभी ने 13 दिसंबर 2001 को याद किया

मुंबई

दिल्ली। संसद पर हुए हमले के 21 साल पूरे होने पर हमले में जान गंवाने वाले जवानों को संसद भवन में श्रद्धांजलि दी गई।
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस सांसद सोनिया गांधी, कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी और अन्य नेताओं ने संसद पर हुए हमले के 21 साल पूरे होने पर संसद में श्रद्धांजलि दी।
हमले के 21 साल पूरे होने पर उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और अन्य नेताओं ने हमले में जान गंवाने वाले जवानों को संसद में श्रद्धांजलि दी।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा, 13 दिसंबर 2001 को संसद पर हुए हमले को हम स्मरण करते हैं जब संसद एक आतंकवादी हमले का निशाना बनी। हमले को विफल करने वाले सतर्क सुरक्षाकर्मियों के शौर्य को भी हम याद करते हैं और हम सुरक्षाकर्मियों के सर्वोच्च बलिदान को भी याद करते हैं।
उपसभापति हरिवंश नरायण सिंह शहीदों को याद करते हुए बोले, 13 दिसंबर 2001 को स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे भयानक दिन के रूप में याद किया जाएगा। 21 साल पहले आतंकवादियों ने संसद पर हमला किया था, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने इसकी रक्षा के लिए वीरता दिखाई और आतंकवादियों के दुस्साहसी प्रयास को विफल कर दिया।
ज्ञात हो कि 21 साल पहले आज ही के दिन आतंकियों ने संसद भवन में धोखे से घुसकर अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी, लेकिन हमारे बहादुर जवानों ने उन्हें मुंह तोड़ जवाब देते हुए उन्हें वहीं ढेर कर दिया था। इस आतंकी हमले में संसद भवन के गार्ड, दिल्ली पुलिस के जवान समेत कुल 9 लोग शहीद हुए थे। 21 साल पहले आज ही के दिन संसद पर आतंकी हमला हुआ था। उस दिन एक सफेद एंबेसडर कार में आए पांच आतंकवादियों ने 45 मिनट में लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर को गोलियों से छलनी करके पूरे हिंदुस्तान को झकझोर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.