UP MLC election: उत्तर प्रदेश में भाजपा को विधान परिषद में भी पूर्ण बहुमत

उत्तर प्रदेश समाचार

अजय भट्टाचार्य
उत्तर प्रदेश
में 40 साल ऐसा हुआ है जब जब किसी दल को विधानसभा और विधान परिषद दोनों ही जगह प्रचंड बहुमत मिला है। विधान परिषद के चुनाव परिणाम में कुल 36 सीटों में भाजपा ने 33 सीटों पर कब्जा जमाया है। वहीं इस चुनाव में सपा, बसपा, कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है। समाजवादी पार्टी का कोई भी उम्मीदवार इस चुनाव में जीत हासिल नहीं कर पाया है। लेकिन इस चुनाव में प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी सीट से भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है। तीन निर्दलीय उम्मीदवारों ने आज़मगढ़, वाराणसी और प्रतापगढ़ सीट पर कब्जा जमाया है। वाराणसी-चंदौली-भदोही सीट से जेल में बंद बृजेश सिंह की पत्‍नी अन्‍नपूर्णा सिंह चुनाव जीत गई हैं। भाजपा यहां तीसरे स्थान पर रही है। सपा मुखिया अखिलेश यादव के बेहद करीबी कहे जाने वाले सुनील कुमार साजन लखनऊ से चुनाव हार गए हैं। आज़मगढ़ में निर्दलीय प्रत्याशी विक्रांत सिंह रिशु ने 2813 मतों के अंतर से भाजपा प्रत्याशी अरुण कांत यादव को हराया है। यहां पर सपा तीसरे नंबर पर रही है। 9 सीटों पर भाजपा के प्रत्याशी निर्विरोध जीते थे। 27 सीटों के लिए 9 अप्रैल को मतदान हुआ था। समाजवादी पार्टी का खाता भी नहीं खुला। विक्रांत भाजपा से निष्कासित यशवंत सिंह के बेटे हैं।
इससे पहले 1982 में कांग्रेस को दोनों ही सदनों में बहुमत मिला था। 33 सीटों पर जीत के साथ ही भाजपा को ऊपरी सदन में भी बहुमत मिल गया है। मौजूदा समय में 100 में से भाजपाके पास 35 विधायक थे। 33 विधायकों की जीत के साथ ही यह संख्या 68 हो गई है जो कि बहुमत के आंकड़े 51 से कहीं जयादा है।समाजवादी पार्टी के मौजूदा समय में 17 विधायक हैं। विधानसभा में बहुमत मिलने के बाद अब सरकार को किसी भी विधेयक को पास करवाने में आसानी होगी।
चुनाव नतीजों पर नजर डालें तो गाजीपुर से विशाल सिंह चंचल, बस्ती से सुभाष यदुवंश, सहारनपुर से वंदना वर्मा मेरठ-गाजियाबाद से धर्मेंद्र भरद्वाज, सीतापुर से भाजपा के पवन सिंह चौहान और अयोध्या से हरिओम पांडेय की जीत हुई है। वाराणसी सीट से जेल में बंद बाहुबली बृजेश सिंह की पत्नी अन्नपूर्णा सिंह ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर जीत दर्ज की है। उन्होंने भाजपा के डॉ सुदामा पटेल को हराया। आगरा-फिरोजाबाद सीट से भाजपा के विजय शिवहरे और गोरखपुर से सीपी चंद, बहराइच से प्रज्ञा तिवारी, जौनपुर से बृजेश सिंह प्रिंशु, रायबरेली से दिनेश प्रताप सिंह, लखनऊ से रामचंद्र प्रधान, बाराबंकी से अंगद कुमार सिंह, फतेहपुर-कानपुर से अविनाश सिंह चौहान, गोंडा से अवधेश कुमार, सुल्तानपुर से शैलेन्द्र सिंह, बलिया से रविशंकर सिंह, फर्रुखाबाद से प्रांशु दत्त द्विवेदी, झांसी-जालौन-ललितपुर सीट से रमा निरंजन, प्रयागराज-कौशाम्बी सीट से डॉ केपी श्रीवास्तव, पीलीभीत-शाहजहांपुर सीट से सुधीर गुप्ता और देवरिया से डॉ.रतन पाल सिंह की जीत हो चुकी है। प्रतापगढ़ सीट से जनसत्ता दल के प्रत्याशी अक्षय प्रताप उर्फ गोपाल एमएलसी के चुनाव में विजयी हुए हैं। उन्होंने भाजपा के हरिप्रताप सिंह को हराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.