राज ठाकरे के NDA गठबंधन में शामिल होने की संभावना पर क्या बोल गए रामदास आठवले…

मुंबई

मुंबई। भाजपा और एकनाथ शिंदे के साथ राज ठाकरे के गठबंधन की कवायद पर आरपीआई प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने ब्रेक लगा दी है। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि, महागठबंधन में राज ठाकरे की कोई जरूरत नहीं है।
महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे हर साल शिवाजी पार्क में दीपोत्सव मनाते हैं। इस साल के दीपोत्सव कार्यक्रम के उद्घाटन में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी शिरकत की। इसलिए ऐसा समझा जा रहा है कि आगामी मुंबई महानगर पालिका चुनाव में मनसे-भाजपा-शिंदे समूह के बीच महागठबंधन होगा।
इस संभावना पर रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष रामदास अठावले ने स्पष्ट बयान दिया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस राज ठाकरे के कार्यक्रम में शामिल हुए, लेकिन राज ठाकरे महागठबंधन का हिस्सा नहीं होंगे। साथ ही रामदास अठावले ने कहा है कि महागठबंधन में राज ठाकरे की कोई जरूरत नहीं है। वह न्यूज चैनल ‘टीवी9 मराठी’ से बात कर रहे थे।
आगामी महागठबंधन के बारे में पूछे जाने पर रामदास अठावले ने कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के कार्यक्रम में गए थे, लेकिन राज ठाकरे महागठबंधन या एनडीए में नहीं आएंगे। राज ठाकरे ने एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस को एक-दूसरे की खुशियां बांटने का न्योता दिया था। इसलिए एक दूसरे के कार्यक्रम में भाग लेने में कोई दिक्कत नहीं है।
मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री राज ठाकरे के कार्यक्रम में शामिल हुए, इसका मतलब भाजपा-शिंदे समूह के मनसे के साथ महागठबंधन बनाने का कोई रास्ता नहीं है। हमें मनसे की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है। चूंकि भारतीय जनता पार्टी, एकनाथ शिंदे की ‘बालासाहेब की शिवसेना’ और ‘रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया’ एक साथ हैं, इसलिए मुंबई मनपा पर झंडा फहराने में कोई दिक्कत नहीं होगी। रामदास अठावले ने स्पष्ट बयान दिया है कि महागठबंधन में राज ठाकरे की कोई जरूरत नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.