News Uttar Pradesh

भारत के सुनहरे भविष्य को गढ़ने का कार्य कर रहे नवोदय विद्यालय: संयुक्त आयुक्त नवोदय विद्यालय समिति

जाति-संप्रदाय से परे नवोदय विद्यालयों में सिर्फ नवोदयन्स की राष्ट्रीय भावना: पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

हमारे व्यक्तित्व और कैरियर के निर्माण में नवोदय का बहुत बड़ा योगदान: जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार

न्यूज स्टैंड18 नेटवर्क
लखनऊ।
नवोदय विद्यालय समिति के तत्त्वावधान में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड राज्य की क्षेत्रीय एल्मुनी मीट -2023 का आयोजन लखनऊ स्थित बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय के सभागार में किया गया। विभिन्न नवोदय विद्यालयों के पुरा विद्यार्थियों ने जहाँ अपने यादगार अनुभव साझा किये वहीं नवोदय विद्यालय की प्रगति के विभिन्न आयामों पर भी चर्चा हुई। सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने भी लोगों का मन मोहा।

मुख्य अतिथि के रूप में नवोदय विद्यालय समिति के संयुक्त आयुक्त ज्ञानेंद्र कुमार ने कहा कि यह गर्व की बात है कि नवोदय के विद्यार्थी आज देश-दुनिया में महत्वपूर्ण पदों पर हैं। अप्रैल, 1986 में दो नवोदय विद्यालयों से आरंभ हुआ यह सफर आज 649 तक पहुँच चुका है। बोर्ड परीक्षा के साथ-साथ विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी नवोदयन्स सदैव से अव्वल रहे हैं। नवोदय शिक्षक सेवा भाव से कार्य करते हुए भारत के सुनहरे भविष्य को गढ़ने का कार्य कर रहे हैं। उन्होंने विभिन्न नवोदय विद्यालयों के पुरा विद्यार्थियों का डाटा बेस तैयार करने हेतु एक पोर्टल भी लांच किया। उन्होंने बताया कहा कि वर्ष 2020 में यूपीएससी द्वारा सिविल सेवाओं में 27 और 2021 में 28 नवोदयी विद्यार्थी चयनित हुए।

नवोदय के पुरा छात्र और संप्रति लखनऊ के जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार ने कहा कि हमारे व्यक्तित्व और कैरियर के निर्माण में नवोदय का बहुत बड़ा योगदान रहा है। यदि मैं नवोदय में नहीं रहता तो शायद ही यहाँ तक पहुँच पाता। ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभाओं को आगे बढ़ने में नवोदय का अहम योगदान है।

वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आज नवोदय एक ब्रांड बन चुका है। सिविल सेवाओं, चिकित्सा, इंजीनियरिंग, सैन्य सेवाओं से लेकर विभिन्न प्रोफेशनल सेवाओं, बिजनेस और सामाजिक सेवाओं में नवोदयन्स पूरे भारत ही नहीं वरन पूरी दुनिया में अपना अलग मुकाम बना रहे हैं। नवोदय में न कोई जाति है, न कोई संप्रदाय है, नवोदय में सिर्फ नवोदयन्स होने की राष्ट्रीय भावना है।

चीफ इंजीनियर बीएलडब्लू रणविजय वर्मा ने कहा कि नवोदय ने हम सभी को जीने का एक नया तरीका सिखाया। भारतीय रेलवे लेखा सेवा के अधिकारी स्वामी प्रकाश पांडे ने नवोदय में विविधता में एकता भावना को रेखांकित किया, वहीं शिक्षा अधिकारी रामचंद्र सिद्धार्थ ने समकालीन समाज में नवोदयी शिक्षा के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। कवि दान बहादुर सिंह ने काव्य पाठ से भावनाएँ व्यक्त की।

कार्यक्रम का संयोजन नवोदय विद्यालय समिति लखनऊ संभाग के उपायुक्त एस के माहेश्वरी, सहायक आयुक्त जनार्दन उपाध्याय, सोमवीर पुनिया, अर्चना सिंह, एसपी शाक्य, पुरा विद्यार्थियों में रामचंद्र, अनिल दीप आनंद, वेद प्रकाश राय, नित्या वर्मा, हरिशंकर गुप्ता, प्रज्ञा पांडे, डॉ.राजश्री, राजबहादुर, डॉ.नरेंद्र, केशवराम, कौशलेंद्र मौर्य,अत्येन्द्र के द्वारा किया गया। इस अवसर पर पुलिस उपायुक्त ट्रैफिक रईस अख्तर, प्रो. अवनीश, प्रो. वीरेंद्र प्रसाद, प्रो. तूलिका साहू, शिव नारायण पाठक, शशि कुमार उत्तम, डॉ. राजवीर, नवोदय वर्ल्डवाइड के संस्थापक सीताराम नारनोलिया, प्रशांत शुक्ला सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

Related posts

प्रयागराज रवाना होने से पहले अतीक बोला…

newsstand18@

कैलाश मासूम ने योगी आदित्यनाथ को “भारत रत्न डॉ अम्बेडकर अवार्ड” से नवाजा

newsstand18@

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे आज राम के दरबार में

newsstand18@